87 करोड़ की मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दुबई के एक व्यवसाई को किया गया गिरफ्तार!

नकली बिल के जरिए आरोपी ने की पैसो की हेराफेरी

SHARE

87 करोड़ की मनी लॉड्रींग के जरिए रिश्तेदारों की मदद करने के मामले में डीआरआई ने हैदराबाद से 41 साल के व्यवसायी को गिरफ्तार किया है। इस आरोपी का नाम शुभम सचदेवा बताया जा रहा है। दो साल पहले शुभम सचदेवा के खिलाफ लुक आउट नोटीस भी जारी किया गया था। लेकिन पिछलें दो सालों से व्यवसायी डीआरआय की नजरों से बच रहा था। आखिरकार जब ये शख्श सोमवार को तिरुपति बालाजी के दर्शन के लिए हैदराबाद एयरपोर्ट पर उतरा तो एलओसी की मदद से लोकल सुरक्षा एंजेसियों ने इसे हिरासत में लिया और डीआरआई को सौप दिया।

यह भी पढ़े- करोड़ो रूपये के MD सहित दो गिरफ्तार

नकली बिल के जरिए धोखाधड़ी
शुभम सचदेवा की मुंबई में ईएससीओआरपी कमोडिटीज नाम की एक कंपनी भी है। दो साल पहले शुभम ने अपने एक रिश्तेदार नमित को मोटी रकम की कई पावतियां दी थी। नमित की नामको इंडस्ट्रीज कंपनी ने स्विडन से 15 करोड़ रुपये की मशीन आयात की थी। इस मशीन को सचदेवा की ओर से खरीदी गई थी इसके पूरे कागजात दिखाए गए थे। हालांकी इस पूरे व्यवहार में सचदेवा ने नमित को 102 करोड़ का अतिरिक्त बिल दिखाया था। जिसके बाद सोनी ने व्यवसाय में नुकसान दिखाकर 87 करोड़ रुपये की मनी लॉड्रींग की। जिसके बाद से डीआरआई लगातार शुभम को ढूंढ रही थी लेकिन दुबई में होने के कारण डीआरआई उसे पकड़ नहीं पा रही थी।

यह भी पढ़े- महिला पुलिसकर्मी से छेड़छाड़!

हैदराबाद उतरते ही गिरफ्तार
शुभम जब अपने पूरे परिवार के साथ तिरुपति बाजाली के दर्शन के लिए हैदराबाद उतरा तो लोकल सुरक्षा अधिकारियों ने उसे गिरफ्तार कर लिया और डीआरआई को सौप दिया।

संबंधित विषय