कल्याण स्टेशन में मिली लाश की गुत्थी सुलझी, पिता ने की थी बेटी की हत्या

पुलिस के अनुसार मरने वाली महिला का नाम प्रिंसी था जिसे उसके पिता अरविंद तिवारी ने ही मारा था। पुलिस के मुताबिक हत्या की वजह ऑनर किलिंग है।

SHARE


रविवार सुबह कल्याण स्टेशन पर एक महिला की सिर कटी लाश मिलने से सनसनी फ़ैल गयी थी। इस लाश को एक बैग में भरा गया था। इस मामले में पुलिस ने सफलता प्राप्त करते हुए केस की गुत्थी सुलझा ली है। पुलिस के अनुसार मरने वाली महिला का नाम प्रिंसी था जिसे उसके पिता अरविंद तिवारी ने ही मारा था। पुलिस के मुताबिक हत्या की वजह ऑनर किलिंग है।

क्या था मामला?

जांच अधिकारी के मुताबिक़ टिटवाला में रहने वाले अरविंद तिवारी (47) की बेटी प्रिंसी (22) एक कॉल सेंटर में काम करती थी। प्रिंसी अपने ही बिल्डिंग में रहने वाले एक दूसरे धर्म के लड़के के साथ प्यार करती थी और उसी से शादी करना चाहती थी, लेकिन यह बात प्रिंसी के घर वालों को कतई मंजूर नहीं थी, खास कर प्रिंसी के पिता अरविंद तिवारी को।

अरविंद तिवारी प्रिंसी की शादी अपने ही जाति धर्म वाले लड़के के साथ कराना चाहते थे और उसकी शादी के लिए लड़के की तलाश भी कर रहे थे, जबकि प्रिंसी इस शादी के खिलाफ थी. इसी बात को लेकर आये दिन प्रिंसी और घर वालों के बीच विवाद होता रहता था।

घटना वाले दिन यानी शनिवार की रात में भी प्रिंसी और उसके पिता के बीच इसी बात को लेकर बहस शुरु हुई। बहस बढ़ते हुए झगड़े में तब्दील हो गया।

इससे नाराज होकर अरविंद ने पहले तो जहर देकर प्रिंसी की हत्‍या कर दी उसके बाद धारदार हथियार से उसके टुकड़े करके बैग में भर दिए। पुलिस ने बताया जिस समय यह घटना हुई उस समय तिवारी की पत्‍नी और अन्‍य बच्चे यूपी में थे।

हत्या करने के बाद बैग को ठिकाने लगाने के लिए किसी सुनसान जगह की तलाश करने लगा. इस काम के लिए अरविंद ने एक ऑटो वाले को बुलाया। दोनों ने मिल कर बैग को ऑटो में रखा और टिटवाला स्टेशन पहुंचे। पुलिस के मुताबिक यह घटना स्टेशन में लगे सीसीटीवी में कैद हुई है। 

पुलिस आगे बताती है इसके बाद अरविंद रविवार की सुबह कल्याण स्टेशन पहुंचा और बैग को घसीटते हुए कल्याण स्टेशन के बाहर टैक्सी स्टैंड तक लाया और एक ऑटो वाले को भिवंडी चलने को कहा, ऑटो वाले ने उत्सुकतावश अरविंद से बैग में क्या होने की बात कही तो अरविंद घबरा गया और थोड़ी देर बाद बैग को वहीं छोड़ कर भाग गया। थोड़ी डॉ बाद ऑटो वाले ने बैग को वहीं लावारिस स्थिति में देखा तो उसने अन्य लोगों को यह बात बताई। सभी ने पुलिस को इस बात की जानकारी दी। जब पुलिस ने बैग खोला तो उसमे महिला के बॉडी के पार्ट थे।

सीसीटीवी के आधार पर पुलिस ने अरविंद को ढूंढ निकाला और उसे गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पहले अरविंद ने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की लेकिन जब पुलिस ने कड़ाई बरती तो अरविंद ने सब कुछ बता दिया।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें