मार्केट में धड़ल्ले से बिक रही not for sale की दवाइयां, 7 गिरफ्तार

अस्पतालों में सैंपल के लिए आने वाली नॉट फॉर सेल दवाइयों को मार्केट में बेचने के आरोप में FDA ने सात लोगों को गिरफ्तार किया और 40 लाख रुपए की दवाइयां बरामद की।

SHARE

अस्पतालों में सैंपल के लिए आने वाली नॉट फॉर सेल दवाइयों को मार्केट में बेचने के आरोप में FDA ने सात लोगों को गिरफ्तार किया और 40 लाख रुपए की दवाइयां बरामद की। FDA की तरफ से ये कार्रवाई मुंबई और नवी मुंबई में की गयी।

FDA को सुचना मिली थी कि मुंबई के भायखला इलाके में स्थित मे. निवान फार्मास्यूटिकल्स नामकी मेडिकल दूकान में नॉट फॉर सेल की दवाइयां बेची जा रहीं है। इसके बाद FDA ने 30 जनवरी को कार्रवाई करते हुए यहां छापा मारा और 13 लाख की दवाइयां जप्त किया। इसके साथ ही FDA ने सूचना के आधार पर मुलुंड में स्थित मे. मेडलाइफ इंटरप्राइजेस प्रा. लि. कंपनी में भी छापा मार कर नॉट फॉर सेल की 17 लाख की दवाइयां जप्त की।

जाँच में FDA को पता चला कि सानपाड़ा स्थित श्री समर्थ डिस्ट्रीब्युटर्स नामकी कंपनी ही इन दोनों को इस तरह की दवाइयां बेचा करती थी, साथ ही ऐसी दवाइयां विदेशों में भी भेजे जाने की बात FDA को पता चली। इस गोरखधंदे में भिवंडी स्थित मे. एसके लॉजिस्टिक नामकी कंपनी सहित अन्य कंपनियों के भी नाम सामने आए।

FDA के बड़ी कार्रवाई करते हुए मुलुंड स्थित सेफलाइफ एंटरप्राइसेस के संचालक दीपेश ताराचंद गाला, ध्रुव दिलीप मेहता, भायखला स्थित निवान फार्मास्युटिकल्स के मालिक विनित लुनिया और निक्षित लुनिया, मेडलाइफ कंपनी के संचालक प्रशांत सिंह, तुषार कुमार, सौरभ अग्रवाल को गिरफ्तार किया। 

अब FDA के अधिकारी सातों लोगों से पूछताछ कर इसके और भी लिंक जानने की कोशिश कर रहे हैं।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें