नाले में डूबने से बच्चे की मौत का मामला: ठेकेदार सहित बीएमसी अधिकारी के खिलाफ केस दर्ज


  • नाले में डूबने से बच्चे की मौत का मामला: ठेकेदार सहित बीएमसी अधिकारी के खिलाफ केस दर्ज
  • नाले में डूबने से बच्चे की मौत का मामला: ठेकेदार सहित बीएमसी अधिकारी के खिलाफ केस दर्ज
SHARE

गुरुवार को ट्राम्बे के चीता कैंप में नाले में गिर कर एक तीन साल के बच्चे की मौत हो गयी थी। इस मामले में पीड़ित परिवार वालों ने बीएमसी की लापरवाही को बच्चे की मौत का जिम्मेदार मानते हुए संबंधित अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की थी। आखिर दुर्घटना के तीन दिन बाद ट्रॉम्बे पुलिस ने कार्रवाई करते हुए ठेकेदार विधि इंटरप्राइजेस सहित संबंधित अधिकारी के खिलाफ केस दर्ज किया है।

                                        (इसी नाले में गिरकर हुई थी बच्चे की मौत)

 
क्या हुआ था बच्चे के साथ?
पिछले गुरुवार को सुबह मुंबई में हुई जोरदार बारिश में जिस तरह से एक बच्चे की नाले में गिर कर मौत हो गयी उससे बीएमसी की लापरवाही एक बार फिर से सामने आए गयी। तीन साल के इस बच्चे का नाम एहसान तंबोली था जो बारिश में भीगते हुए खेल रहा रहा था। खेलते समय बच्चे का पैर फिसल गया और वह खुले नाले में गिर कर डूब गया। काफी कोशिशों के बाद भी उसे बचाया नहीं जा सका।


यह भी पढ़ें: बारिश बनी जानलेवा, नाले में गिर कर हुई 3 साल के बच्चे की मौत


बीएमसी और नगरसेवक ने की शिकायत की अनदेखी 
मुंबई लाइव से बात करते हुए एहसान की चाची हसीना ने कहा कि यहां के नाले में कभी भी साफ सफाई नहीं होती। बीएमसी के द्वारा कहा गया था कि फाइबर का ढक्क्न लगाया जायेगा लेकिन वह भी नहीं लगाया गया। उन्होंने आगे कहा कि स्थानीय लोगों ने खुले नालों को लेकर स्थानीय नगरसेवक से कई बार शिकायत की थी लेकिन शिकायत पर ध्यान नहीं दिया गया।

दोषियों पर हुई कार्रवाई 
सोमवार को शिवसेना सांसद राहु शेवाले ने पीड़ितों के घर जाकर उन्हें सांत्वना दी साथ ही संबंधित बीएमसी अधिकारी को तत्काल नाला साफ करने का आदेश दिया। उन्होंने संबंधित लोगों पर कार्रवाई करने की भी बात कही। जिसके बाद ट्रॉम्बे पुलिस ने विधि इंटरप्राइजेस और पालिका के अधिकारी के खिलाफ केस दर्ज किया।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें