मुंबई में 21 सलून वालों के साथ 1 करोड़ की ठगी

रोनित ने इंसेंटिव कमाने के लिए अपने ग्राहकों यानी कई सलून वालों को प्रोडक्ट बेचा और इस बात का भी आश्वासन दिया कि अगर प्रोडक्ट नहीं चलेगा तो वो यह सारा माल वापस ले लेगा। इस ऑफर के बाद कई सैलून वालों ने प्रोडक्ट खरीदा।

SHARE

मुंबई के कई सैलून मालिकों को चुना लगाने वाले पांच आरोपियों को आर.ए किदवई पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बताया जाता है कि 20 से अधिक सैलून मालिकों के साथ ठगी की गयी है। ठगी की यह राशि लगभग 1 करोड़ रूपये आंकी गयी है। गिरफ्तार होने वाले आरोपियों के नाम रोनीत शाह (25), निलेश दुबे (28), लालजी गुप्ता (45), अनवर खान (24) और शीतल वऱ्हाडे (31) है।

क्या है मामला?
बताया जाता है कि सौंदर्य प्रसाधन बनाने वाली एक विदेशी ब्रांडे की कंपनी मुंबई में अपना व्यवसाय बढ़ाना चाहती थी। इस कार्य के लिए उसने एक प्राइवेट कंपनी को नियुक्त किया। इसी कंपनी में रोनीत ऊर्फ जयप्रकाश शाह काम करता था। रोनित ने इंसेंटिव कमाने के लिए अपने ग्राहकों यानी कई सलून वालों को प्रोडक्ट बेचा और इस बात का भी आश्वासन दिया कि अगर प्रोडक्ट नहीं चलेगा तो वो यह सारा माल वापस ले लेगा। इस ऑफर के बाद कई सैलून वालों ने प्रोडक्ट खरीदा।

लेकिन जब कुछ दिन बाद प्रोडक्ट नहीं बिका तो सलून वालों ने प्रोडक्ट वापस करना शुरू कर दिया, हालांकि रोनीत ऊर्फ जयप्रकाश ने माल वापस तो ले लिया लेकिन सलून वालों को पैसा देने में आनाकानी करने लगा। यही नहीं वापस आया हुआ माल वो दूसरे दुकानदारों को बेचने लगा। इस तरह से शाह ने पैसा कमाना शुरू कर दिया। शाह के रास्ते पर ही कंपनी के अन्य सेल्समैन भी चलने लगे और उन्होंने भी इस तरह का काम करना शुरू कर दिया।

पैसा वापस नहीं मिलता देखा कई सलून मालिकों ने जब पुलिस ने इसकी शिकायत दर्ज कराई तब जाकर यह मामला सामने आया। मुख्य आरोपी के रूप में रोनीत ऊर्फ जयप्रकाश का नाम सामने आया जिसने 3 सितंबर 2018 से लेकर 3 जनवरी 2019 तक इन सारे कामों  को अंजाम दिया था। शाह के अलावा दो अन्य सेल्समैनों का भी नाम इस ठगी के काम में सामने आया। यही नहीं पुलिस ने इनके पास से 3 लाख रूपये का माल भी बरामद किया है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें