SHARE

मुंबई में एक हैरतअंगेज मामला सामने आया है, पुलिस ने एक घरेलू नौकर को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि यह नौकर अपनी अमीर बूढ़ी मालकिन को रोज खाने में जहर देता था ताकि उसकी मौत के बाद वह उसका घर लूट सके और लोगों को मौत भी प्राकृतिक लगे। हालांकि मामले का खुलासा होने के बाद आरोपी नौकर रिज-उल-हक मंडल उर्फ़ मिलान (33) अब पुलिस की हिरासत में है। वृद्ध महिला अपने दो नौकरों और आरोपी रसोइयां के साथ अकेले ही घर में रहती थी।

क्या था मामला?
मिली जानकारी के मुताबिक कुलाबा में रहने वाली वृद्ध महिला जेनिया खाजोटिया (65) के दो बेटे और बेटी सभी विदेश में रहते हैं, जबकि जेनिया अपने दो नौकरों और आरोपी रसोइयां रिज-उल-हक मंडल के साथ घर में अकेली ही रहती थी।

बताया जाता है कि जेनिया को अक्सर खाने के बाद नींद आने लगती। खाना खाने के बाद उसे आलस शुरू हो जाता और वह सोने लगती। 11 अगस्त को जेनिया की बेटी अमेरिका से छुट्टी मनाने मुंबई अपने मां के घर आई। जेनिया की बेटी ने भी यह नोटिस किया कि जब भी वे दोनों खाना खाते तो खाने के बाद उन्हें नींद आना शुरू हो जाता। 24 अगस्त को जेनिया ने अपनी बेटी तबियत खराब होने की शिकायत की।

जेनिया की बेटी अपनी मां को इलाज के लिए टाटा अस्पताल ले कर गयी, जब जेनिया का ब्लड टेस्ट किया गया और रिपोर्ट सामने आई तो जेनिया को जो डॉक्टरों ने बताया वो काफी हैरान कर देने वाला था। दरअसल  जेनिया के ब्लड में 'थिलियम' नामका एक जहर मिलने की पुष्टि हुई जिसका उपयोग चूहे मारने वाली दवा के रूप में किया जाता है। डॉक्टरों ने जेनिया को बताया कि यह जहर खाना के साथ जेनिया के शरीर में आया।

इसके बाद जेनिया ने अपनी बेटी के साथ कुलाबा पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने शिकायत के बाद मंडल को गिरफ्तार कर लिया। अब पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि क्या मंडल ही खाने में जहर मिला कर जेनिया को दे रहा था?

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें