COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
43,43,727
Recovered:
36,09,796
Deaths:
65,284
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
55,601
3,028
Maharashtra
6,39,075
62,194

शराब की एक बोतल 1 लाख 30 हजार में

चेंबूर के रहने वाले एक शख्स ने अपने लिये ऑनलाइन बीयर ऑर्डर किया। लेकिन यह बीयर की बोतल उसे 1 लाख 30 हजार में पड़ गयी,

शराब की एक बोतल 1 लाख 30 हजार में
SHARES

देश में कोरोना महामारी यानी Covid 19 महामारी के चलते लॉकडाउन किया गया है। सभी आवश्यक दुकानों को छोड़कर, A, स्कूल, कॉलेज, बार सहित ट्रांसपोर्ट सेवा भी बंद हैं। इस बंदी से 'खाने-पीने' के शौकीनों के भी लाले पड़े हुए हैं। इसी कड़ी में चेंबूर के रहने वाले एक शख्स ने अपने लिये ऑनलाइन बीयर ऑर्डर किया। लेकिन यह बीयर की बोतल उसे 1 लाख 30 हजार में पड़ गयी, कैसे? जानने के लिए पढ़ें यह रिपोर्ट

क्या है मामला?

 देश में कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है और इसे रोकने के लिए पूरे देश में तालाबंदी की घोषणा की गई है।  इसके कारण, कई लोगों ने घर पर रहते हुए कुछ घरेलू ज़रूरतों या खाद्य पदार्थों को ऑनलाइन ऑर्डर करना शुरू कर दिया है।  इसी तरह, चेंबूर के एक शख्स ने एक ऑनलाइन बीयर शॉप नंबर लिया और उस नंबर से एक बीयर ऑर्डर की।

ऑनलाइन ऑर्डर करने के दौरान व्यक्ति को 3 हजार रुपए चुकाने को कहा गया। जिसके बाद शख्स ने अपनी पत्नी के क्रेडिट कार्ड से भुगतान करने की कोशिश की।  हालांकि, कुछ तकनीकी कारणों के कारण बिल का भुगतान नहीं हो पाया। इसी दौरान शख्स के मोबाइल पर एक OTP नंबर आया, जिसके बाद फोन कर शॉप वाले ने उनसे OTP नंबर की जानकारी मांगी, जिसके बाद शख्स ने OTP नंबर दे दिया। लेकिन थोड़ी ही देर में शख्स की पत्नी के मोबाइल पर एक मैसेज आया जिसमें 30,000 बैंक एकाउंट से निकाले जाने की सूचना दी गयी थी। यह संदेश प्राप्त करने के तुरंत बाद महिला ने तत्काल अपना क्रेडिट कार्ड ब्लॉक करा दिया। लेकिन तब तक महिला के खाते से और एक लाख रुपये निकाले जा चुके थे। 

इसके बाद शख्स ने तिलकनगर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कराया।  पुलिस अब इस मामले की जांच में जुट गई है।

आपको बता दें कि यह कोई ऑनलाइन फ्रॉड का यह कोई  पहला मामला नहीं है। इसके पहले भी न जाने कितने लोग इस तरह से ऑनलाइन धोखाधड़ी का शिकार हुए हैं। लेकिन ऐसे मामलों में अक्सर पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगता, और अपराधी आराम से बच जाते हैं। यही कारण है कि अपराधियों के हौसले बढ़े हुए हैं।

जबकि दूसरी तरह हमारी सरकार भी ऑनलाइन लेनदेन को बढ़ावा देने की कोशिश में लगी हुई है ताकि करप्शन को रोका जा सके। लेकिन अगर इसी तरह से ऑनलाइन फ्रॉड होते रहे तो लोग ऑनलाइन लेनदेन करने से बचेंगे ही।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें