हिमालय ब्रिज हादसा - स्ट्रक्चरल ऑडिटर नीरज देसाई की पुलिस कस्टडी 28 मार्च बढ़ी

शुरुआती जांच के बाद ब्रिज का ऑडिट करने वाले स्ट्रक्चरल ऑडिटर नीरज देसाई को पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया था।

SHARE

सीएसटीएम स्टेशन के पास हुए ब्रिजे हादसे में गिरफ्तार स्ट्रक्चरल ऑडिटर नीरज देसाई की पुलिस कस्टडी को कोर्ट ने बढ़ा दिया है। मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस के पास हुए फुट ओवर ब्रिज हादसे में कई लोग घायल हुए थे। मुंबई सेशंस कोर्ट ने देसाई की पुलिस कस्टडी 28 मार्च तक के लिए बढ़ा दी है। शुरुआती जांच के बाद ब्रिज का ऑडिट करने वाले स्ट्रक्चरल ऑडिटर नीरज देसाई को पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया था।


मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस से जुड़े ब्रिज का हिस्सा गिरने से 6 लोगों की मौत हो गई थी। 34 लोग घायल भी हुए थे। मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने घटना स्थल पर पहुंचकर इस पूरे हादसे की जांच के आदेश दिये थे और 24 घंटे के अदंर इस हादसे के लिए जिम्मेदारी तय करने का आदेश भी दिया था। फुटओवर ब्रिज (एफओबी) गिरने के मामले में पुलिस ने स्ट्रक्चरल ऑडिटर नीरज देसाई को गिरफ्तार किया था।


बीएमसी की जांच में नीरज कुमार देसाई की कंपनी के साथ साथ बीएमसी के चार अन्य अधिकारियों को भी दोषी पाया गया था। बीएमसी इस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए अपने चार दो कर्मचारियों को निलंबित भी कर दिया था। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने हादसे में मारे गए लोगों के परिवारों को 5 लाख रुपये और घायलों को 50 हजार रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया था।

यह भी पढ़ेउपनगरीय स्टेशनों पर 5 फुट ओवरब्रिज को ध्वस्त करेगी रेलवे

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें