आतंकी संगठन सिमी पर 5 साल के लिए फिर बढ़ाया गया प्रतिबंध

सिमी पर भारत में कई आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देते हुए बम ब्लास्ट कराने का आरोप है।इसीलिए साल 2002 में इसे अनलॉफुल ऐक्टिविटीज प्रिवेंशन ऐक्ट 1967 (UPA) के तहत प्रतिबंधित कर दिया गया, लेकिन साल 2008 में कोर्ट ने इस पर से बैन हटाने का आदेश दिया था लेकिन कुछ दिन बाद फिर से सुप्रीम कोर्ट ने इस प्रतिबंध को बहाल किया।

आतंकी संगठन सिमी पर 5 साल के लिए फिर बढ़ाया गया प्रतिबंध
SHARES

प्रतिबंधित आतंकी संगठन स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) पर सरकार ने अगले 5 साल के लिए फिर से प्रतिबंध लगा दिया। कई आतंकी गतिविधियों में भाग लेने के आरोप में भारत सरकार ने इस संगठन पर साल 2002 में ही प्रतिबंधित कर दिया गया था। साल 2014 में मोदी सरकार ने भी 2019 तक इस संगठन को बैन करने की घोषणा की थी, इस प्रतिबंध को 5 साल के लिए फिर से बढ़ा दिया गया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गृह मंत्रालय के अनुसार सिमी भविष्य में भी देश के लिए खतरा पैदा कर सकता है। यह संगठन अपने नापाक इरादों द्वारा देश में कट्टर सांप्रदायिकता को भड़का कर आग लगा सकता है। इसीलिए इस संगठन को अगले और 5 साल के लिए प्रतिबंधित किया जाता है।

आपको बता दें कि सिमी पर भारत में कई आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देते हुए बम ब्लास्ट कराने का आरोप है।इसीलिए साल 2002 में इसे अनलॉफुल ऐक्टिविटीज प्रिवेंशन ऐक्ट 1967 (UPA) के तहत प्रतिबंधित कर दिया गया, लेकिन साल 2008 में कोर्ट ने इस पर से बैन हटाने का आदेश दिया था लेकिन कुछ दिन बाद फिर से सुप्रीम कोर्ट ने इस प्रतिबंध को बहाल किया।

बताया जाता है कि सिमी को प्रतिबंध करने के बाद यह संगठन  नए नाम से एक्टिव है। साथ ही इस पर अन्य आतंकी संगठनों के साथ जुड़ने का आरोप है। यही नहीं सिमी और इंडियन मुजाहिदीन एक ही जैसे होते हैं क्योंकि इनके सरगना और आंतकी आमतौर पर एक ही होते हैं।

Read this story in English
संबंधित विषय