मजाक बना मुसीबत , होटल मैनेजर को जाना पड़ा जेल

एक व्यापारी को फोर ने धमकी देने के मामले में पुलिस ने होटल मैनेजर को गिरफ्तार किया है

SHARE

एक होटल मैनेजर को मजाक करना इतना भारी पड़ गया की उसे सीधे जेल की हवा खानी पड़ी।   पश्चिमी उपनगर के एक पांच सितारा होटल के मैनेजर लक्ष्मीकांत पवार को पुलिस ने  एक व्यापारी को धमकाने के मामले में गिरफ्तार किया है। 

क्या है मामला

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक   पवार ने कुछ दिनों पहले बीकेसी में एक अंतरराष्ट्रीय हीरा कंपनी के उपाध्यक्ष को फोन किया था। फोन करने के बाद पवार ने अपने आप को एंटी नॉर्कोटिक्स विभाग के कांदिवली इकाई का पुलिस निरीक्षक बताया था।  पवार ने  कंपनी के उपाध्यक्ष को बताया की एएनसी ने  नाइजीरिया के एक नागरिक को गिरफ्तार किया है जो ड्रग्स की स्मगलिंग करता था, और वह बार बार  कंपनी के उपाध्यक्ष से संपर्क में रहने की बात कर रहा।  पवार ने उपाध्यक्ष को पुछताछ के लिए  कांदिवली इकाई एंटी नॉर्कोटिक्स विभाग में आने के लिए कहा और इसके साथ ही उसने कंपनी के उपाध्यक्ष को धमकी भी दी की अगर वह नही आते है तो उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

कंपनी के उपाध्य़क्ष ने पवार को फोन किया और उसे समझाने की कोशिश की कि नाइजेरियन नागरिक से उसका कोी संबंध नहीं है। हालांकी इसके बाद भी पवार ने उसे बार बार गिरफ्तारी की धमकी दी। उपाध्य़क्ष ने फिर अपने एक दोस्त और पूर्व पुलिस उपायुक्त  शिरीष इनामदार को इस पूरे मामले की जानकारी दी।   शिरीष इनामदार ने इसकी जानकारी क्राइम ब्रांच आशुतोष ढुंबरे की दी। आशुतोष ढुंबरे ने इस बात को   एएनसी के पुलिस उपआयुक्त शिवदीप लांडे को दी। 

कोर्ट ने भेजा पुलिस कस्टडी में
उपआयुक्त शिवदीप लांडे ने जब इस मामवले की जांच के लिए कांदिवली युनिट से संपर्क किया तो पता चला की वहा पर पवार नाम को कोई पुलिस निरिक्षक  है ही नहीं।  जिसके बाद   शिवदीप लांडे और उनकी टीम ने आपोरी को कांदिवली से ही गिरफ्तार किया।  पुलिस से पुछताछ में पवार ने बताया की उसने मजाक करने के लिए फोन किया था। हालांकी पुलिस को उसकी ये बात पच नहीं रही है और पुलिस ने इस मामले में आगे की जांच और भी तेज कर दी है।  कोर्ट ने फिलहाल आरोपी पवार को पुलिस कस्टडी में भेज दिया है।  

यह भी पढ़े- 51 वर्षीय जीएसटी अधिकारी ने की आत्महत्या

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें