हैदराबाद गैंगरेप मामला- प्रकाश आंबेडकर ने एनकाउंटर में शामिल पुलिसवालों पर की कार्रवाई की मांग

वंचित बहुजन अघाड़ी के अध्यक्ष प्रकाश आंबेडकर ने हैदराबाद पुलिस के खिलाफ जांच की मांग की।

SHARE

हैदराबाद गैंगरेप के चारों आरोपियों को शुक्रवार तड़के सुबह पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है। यह एनकाउंटर नेशनल हाइवे-44 के पास हुआ। पुलिस आरोपियों को एनएच-44 पर क्राइम सीन रिक्रिएट कराने के लिए लेकर गई थी। पुलिस के मुताबिक चारों आरोपियों ने मौके से भागने की कोशिश की। पुलिस ने चारों आरोपियों को ढेर कर दिया है।पुलिस के इस एनकाउंटर के बाद अब इस पर सवाल खड़े होने शुरू हो गए हैं।


वंचित बहुजन अघाड़ी के अध्यक्ष प्रकाश आंबेडकर ने हैदराबाद पुलिस के खिलाफ जांच की मांग की। प्रकाश आंबेडकर ने इस मामले पर राजनेताओं को जिम्मेदार ठहराया हैं। उन्होंने कहा कि राजनीतिक प्रमुख गलत आदेश दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि, "सभी आरोपी थे, न कि दोषी। एक ऐसी ही घटना छत्तीसगढ़ में भी हुई थी, जहां 36 लोगों को नक्सली बताकर मार दिया गया था, जबकि वे नक्सली नहीं थे" । सुप्रीम कोर्ट की वरिष्ठ वकील वृंदा ग्रोवर ने पुलिस पर मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि पुलिस पर मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए और पूरे मामले की स्वतंत्र न्यायिक जांच कराई जानी चाहिए। बलात्कार के नाम पर कोई भी पुलिस एनकाउंटर करना गलत है।

 राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा, ‘एनकाउंटर हमेशा ठीक नहीं होते हैं। इस मामले में पुलिस के दावे के मुताबिक आरोपी बंदूक छीन कर भाग रहे थे। ऐसे में शायद उनका फैसला ठीक है। हमारी मांग थी कि आरोपियों को फांसी की सजा मिले, लेकिन वो कानूनी प्रक्रिया के तहत हो। हम चाहते थे कि त्वरित न्याय हो। पूरी कानूनी प्रक्रिया के तहत ही कार्रवाई होनी चाहिए। आज लोग एनकाउंटर से खुश हैं, लेकिन हमारा संविधान है, कानूनी प्रक्रिया है।’

यह भी पढ़े- झगड़े के दौरान चलती ट्रेन से दिया धक्का, यात्री घायल

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें