व्यवसायिक प्रतिस्पर्धा में परिवार को जला कर मारने की कोशिश, 2 गिरफ्तार

मीरा देवी के आ जाने से प्रफुल्ला सरवैया के धंदे पर भी प्रभाव पड़ने लगा। यही नहीं प्रफुल्ला सरवैया को मीरा की पत्नी द्वारा कपड़े बेचने का काम खटकने लगा, और इन दोनों के बीच आये दिन झगड़े भी शुरू हो गये।

SHARE

एक मामले के अनुसार दो लोगों के बीच व्यवसायिक प्रतिस्पर्धा इतनी बढ़ी की इसका रिजल्ट एक परिवार को जिंदा जलाने की कोशिश के रूप में सामने आई। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

क्या है मामला?
मिली जानकारी के मुताबिक दहिसर के रावल पाड़ा में राजेश गुप्ता अपनी पत्नी मीरा देवी और दो बच्चों के साथ किराये के घर में रहता था। राजेश की कमाई से घर चलाने में मुश्किल होता देख राजेश की पत्नी मीरा ने अपना व्यवसाय शुरू किया। वह कपड़े सिल कर बेचने का काम करने लगी। वहीं पास में ही एक और महिला प्रफुल्ला सरवैया भी कपड़े बेचने का काम करती थी। लेकिन मीरा देवी के आ जाने से प्रफुल्ला सरवैया के धंदे पर भी प्रभाव पड़ने लगा। यही नहीं प्रफुल्ला सरवैया को मीरा की पत्नी द्वारा कपड़े बेचने का काम खटकने लगा,  और इन दोनों के बीच आये दिन झगड़े भी शुरू हो गये। बताया जाता है कि 27 जनवरी को यह झगड़ा काफी बढ़ गया, इस झगड़े में दोनों महिलाओं के पति भी शामिल थे।

झगड़ा होने के अगले दिन यानी 28 जनवरी की सुबह 4 बजे मीरा देवी के घर के बाहर दरवाजे पर कुछ लोगों की आवाज आई। इस आवाज से मीरा देवी जाग गयी, अचानक मीरा ने देखा कि उसके दरवाजे पर आग लग गयी है। आग देख कर मीरा चिल्लाने लगी। आवाज सुन कर राजेश भी जाग गया। राजेश ने जब दरवाजा खोलने की कोशिश की तो दरवाजा बाहर से बंद था। भागने का कोई रास्ता नहीं मिला देखा राजेश ने चिल्लाना शुरू कर दिया और परिवार सहित आग को बुझाने की कोशिश करने लगा। इतने में आसपास के लोग भी वहां आ गये और सभी ने मिल कर आग पर काबू किसी तरह से काबू पाया।

इसके बाद इस घटना को लेकर राजेश ने दहिसर पुलिस में शिकायत की, पुलिस ने प्रफुल्ला के पति चंदू और एक आरोपी संजय के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

संबंधित विषय