SHARE

सरकार कितना भी ऑनलाइन ट्रांजेक्शन की बात करती है लेकिन ऑनलाइन के जरिये होने वाली ठगी को रोकने का कुछ उपाय नहीं करती है जिससे इस तरह के अपराधों में वृद्धि हो रही है। मुंबई पुलिस की साइबर पुलिस ने एक ऐसे आरोपी को गिरफ्तार किया है जो बड़ी ही आसानी से किसी का भी फेसबुक हैक कर लेता और उसके बाद उसकी किसी खास पहचान वाले को फर्जी मैसेज कर अर्जेन्ट रूप से पैसों की मांग करता। मूल रूप से राजस्थान के जोधपुर का रहने वाले इस शातिर अपराधी का नाम दिप्तेश सलेच्छा है।


क्या है मामला?

बांद्रा के साइबर पुलिस ने बताया कि आरोपी दिप्तेश ने कुछ दिन पहले एक शख्स का फेसबुक अकाउंट हैक कर लिया। हैक करने के बाद दिप्तेश ने शख्स के खास दोस्त को एक फर्जी मैसेज कर कहा कि वह परेशानी में है उसे अर्जेन्ट पैसों की जरुरत है। इसके बाद उस खास दोस्त ने दिए गए एक बैंक खाते बिना कोई पड़ताल किये पैसे ट्रांसफर कर दिए। कुछ दिन बाद जब उस शख्स को ठगी का पता चला तो उसने पुलिस से मदद मांगी।

मामला बांद्रा स्थित साइबर पुलिस को सौंप दिया गया। पुलिस ने जब जांच शुरू की तो पुलिस को पता चला कि एक ही कंप्यूटर आईडी से वर्सोवा, बोरिवली और बांद्रा में भी इसी तरह की ठगी को अंजाम दिया गया था। साथ ही जब कंप्यूटर की आईडी का लोकेशन चेक किया गया तो लोकेशन जोधपुर का आया।

इसके बाद साइबर पुलिस की एक टीम जोधपुर रवाना हुई और दिप्तेश को गिरफ्तार किया। दिप्तेश ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि उसने इस तरह की कई घटनाएं नासिक, पुणे, मुंबई में अंजाम दिया है साथ ही वह लोगों के फेसबुक सहित इंस्टाग्राम और जीमेल अकाउंट भी हैक कर सकता है।

चौंकाने वाली बात यह है कि दिप्तेश मात्र 10वीं तक पढ़ा है लेकिन उसे कंप्यूटर का पूरा नॉलेज है।  

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें