पुलिस टॉर्चर से आरोपी की मौत? परिजनों ने किया हंगामा


  • पुलिस टॉर्चर से आरोपी की मौत? परिजनों ने किया हंगामा
  • पुलिस टॉर्चर से आरोपी की मौत? परिजनों ने किया हंगामा
SHARE

सायन अस्पताल में एक मरीज की मौत होने पर परिजनों ने हिंसक हंगामा किया। मरीज का नाम सचिन जैसवार था। इस हंगामे में परिजनों ने न केवल पुलिस की गाड़ी पर हमला कर उसे तोड़ दिया बल्कि इस हमले में 5 पुलिस वाले भी गंभीर रूप से जख्मी हो गए। परिजनों का आरोप है कि पुलिस वालों ने झूठे चोरी के आरोप में सचिन को जेल में बंद करके उसे थर्ड डिग्री टॉर्चर किया ताकि वह अपना जुर्म कबूल ले और उसे इतना मारा कि उसकी मौत हो गयी। 



क्या है मामला?
मिली जानकारी के मुताबिक धारावी में शनिवार को आठ घरों में चोरी होने के कारण हड़कंप मच गया। लोगों ने पुलिस व्यवस्था पर सवाल उठाना शुरू कर दिया। दबाव में आकर पुलिस ने धारावी के ही गांधी नगर से एक संदिग्ध सचिन जैसवार को हिरासत में लिया।
 
पुलिस ने किया टॉर्चर 
सचिन के पिता रविंद्र जैसवार का आरोप है कि पुलिस ने जबरन सचिन पर अपराध कबूल करने के लिए दबाव डाला और उस पर थर्ड डिग्री टॉर्चर किया। जब सचिन की स्थिति खराब हो गयी तो उसे सायन अस्पताल में दाखिल करवा दिया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत गयी।


पुलिस वालों पर हमला 
सचिन की मौत के बाद उसके परिजनों ने पुलिस पर हिंसक हंमला कर दिया। इस हिंसक हमले में परिजनों ने पुलिस पर पेवर ब्लॉक पत्थरों से हमला कर दिया। इस हमले में पुलिस की तीन गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गयी जबकि 5 पुलिस वाले बड़ी तरह से घायल हो गए।

बीमारी से हुई मौत?
इस मामले में पुलिस ज्वाइंट सीपी (लॉ एंड आर्डर) का कहना है कि सचिन की मौत लेप्टोस्पायरोसिस बीमारी से हुई है। पुलिस ने पुलिस वालों पर जानलेवा हमला करने के आरोप में अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दिया है, जबकि घायल पुलिस वालों का इलाज सायन अस्पताल में चल रहा है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें