सड़क हादसे में हुई थी मौत, 5 साल बाद पता चला वह मर्डर था

सैफुद्दीन ने आगे बताया कि उसे यह काम इकबाल खान के धंदे के पार्टनर ने दिया था। इकबाल खान और उसका पार्टनर यूपी में सरपंच का चुनाव लड़ रहे थे। इस स चुनाव में इकबाल जीत गया था जिससे उसका पार्टनर इकबाल से खार खाया हुआ था।

SHARE

मुंबई के चेंबूर इलाके में पांच साल पहले एक दुर्घटना में हुई मौत की सच्चाई 5 साल बाद सामने आई। 5 साल तक जिस मौत को एक हादसा मान कर लोग नियती समझ बैठे थे दरअसल वह एक सोच समझ कर की गयी हत्या निकली। इस हत्या का खुलासा तक हुआ जब हत्या करने वाले को सुपारी का पैसा नहीं मिला।  

क्या था मामला?
साल 2014 में वडाला टीटी पुलिस क्षेत्र में आने वाले इलाके में चेंबूर के वडाला लिंक रोड पर साइकिल से जा रहे 40 वर्षीय इकबाल खान (40) को एक अज्ञात वाहन ठोकर मार कर फरार हो गया था। इस जोरदार ठोकर से इकबाल की मौत हो गयी थी। पुलिस ने इस मामले में अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ केस भी दर्ज किया था। लेकिन अभी तक आरोपी नहीं पकड़ा गया था। पुलिस ने इसे आम सड़क दुर्घटना समझ कर ही मामले की जांच कर रही थी, लेकिन अभी तक इस मामले में पुलिस को कोई खास सफलता नहीं मिली थी।

इस घटना के ठीक 5 साल बाद एक टैंकर चालक तात्यासो पटोबा (36) शराब के नशे में कुछ बड़बड़ा रहा था, पहले तो किसी ने ध्यान नहीं दिया लेकिन जब लोगों ने ध्यान से सुना तो सभी चौंक गए। दरअसल तात्यासो पटोबा कह रहा था कि उसने उस आदमी को मार दिया लेकिन उसकी सुपारी के पैसे 30 हजार रूपये अभी तक नहीं मिले हैं।

इसके बाद इसकी खबर पुलिस को मिली, जब पुलिस ने तात्यासो पटोबा को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसका सारा नशा काफूर हो गया। पहले तो तात्यासो पटोबा ने इधर उधर की बात की, लेकिन जब पुलिस ने कड़ाई की तो उसे सारा सच उगल दिया। उसने पुलिस को बताया कि उसके मालिक सैफुद्दीने कुरेशी (45) के ही कहने पर उसने इस हत्या को अंजाम दिया।

इसके बाद पुलिस ने सैफुद्दीन को पूछताछ के लिए बुलाया। सैफुद्दीन ने पूछताछ में अपना गुनाह कबूल कर लिया। उसने पुलिस को बताया कि इकबाल खान को मारने के लिए उसने ही 40 हजार में सुपारी ली थी और उसने यह काम तात्यासो पटोबा के जरिये करवाया था।

सैफुद्दीन ने आगे बताया कि उसे यह काम इकबाल खान के धंदे के पार्टनर ने दिया था। इकबाल खान और उसका पार्टनर यूपी में सरपंच का चुनाव लड़ रहे थे। इस स चुनाव में इकबाल जीत गया था जिससे उसका पार्टनर इकबाल से खार खाया हुआ था। यही नहीं इकबाल के पार्टनर को 10 लाख रुपए भी इकबाल को देने थे।इस कारणों से उसने इक़बाल को रास्ते से हटाने की साजिश रची। इसके बाद पुलिस ने इकबाल के पार्टनर को गिरफ्तार करने के लिए यूपी रवाना हो गयी।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें