मोबाइल चोर गैंग की 'सोनू पंजाबन' गिरफ्तार


SHARE

मुंबई के लोकल ट्रेनों की भीड़ एक आम आदमी के लिए भले ही परेशानी का सबब हो लेकिन यह भीड़ जेबकतरों और मोबाइल चोरों के लिए किसी वरदान से कम नहीं होगी। इसी भीड़ का फायदा उठा कर मोबाइल चोर और जेब कतरें बड़ी आसानी से अपना काम अंजाम दे देते हैं। इसे देखते हुए रेलवे पुलिस ने कानून बनाया कि अब मोबाइल चोरों पर मकोका के तहत कार्रवाई होगी। यही नहीं जांच में इस बात का भी पता चला है कि इन मोबाइल चोरों की भी एक 'सोनू पंजाबन' है जिसका नाम शबनम अब्दुल रहमान शेख (26) है जो अब पुलिस की गिरफ्त में है।

क्या था मामला?

मुंबई हार्बर लाइन पर बड़ी संख्या में मोबाइल चोरी की घटनाएं सामने आती हैं, इस लाइन पर एक दिन में 30 मोबाइल चोरी की घटनाएं सामने आईं हैं। मोबाइल चोरी करने के बाद चोरी के इन सभी मोबाइल को शबनम के पास लेकर जाते हैं। इन मोबाइल चोरों से मोबाइल लेकर शबनम इन्हे मस्जिद बंदर के मोबाइल दुकान पर बेच देती है। उसके बाद वहां मोबाइल को फॉर्मेट करके उसका IMEI नंबर बदला जाता है और उसे फिर से बाजारों में बेचने के लिए भेज दिया जाता है।

कई हुए गिरफ्तार 

शबनम का पता उस समय चला जब अभी कुछ दिन पहले ही रेलवे पुलिस ने वडाला से विनोद मकवाना नामके एक मोबाइल चोर को गिरफ्तार किया। उससे पूछताछ के बाद ही उसने शबनम शेख का नाम लिया। इसके बाद पुलिस ने शबनम को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद पुलिस ने अन्य आरोपियों मोहम्मद फरहान खान उर्फ टकला, मोहम्मद अयूब खान उर्फ दाऊद, अल्तमश गुलाम नबी शाह उर्फ कवला, मोहम्मद अंसारी को भी गिरफ्तार किया। ये सभी आरोपी रे रोड इलाके में रहते हैं। इनसे पूछताछ में मस्जिद इलाके में रहने वाले मोबाइल विक्रेता कादर शेख का भी नाम आया जो कि अभी फरार है। पुलिस कादर की तलाश कर रही है।

पढ़ें: 'इन' कुख्यात मोबाइल चोरों पर रेलवे पुलिस लगाएगी मकोका

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें