एयरपोर्ट ISIS लेटर मामला: आरोपी ने फिल्म देखने के बाद दिया था इस घटना को अंजाम


एयरपोर्ट ISIS लेटर मामला: आरोपी ने फिल्म देखने के बाद दिया था इस घटना को अंजाम
SHARES

मुंबई एयरपोर्ट कार्गो के टॉइलेट में पिछले दिनों ISIS का धमकी भरा लेटर मिलने से हड़कंप मच गया था, उस समय पुलिस की जांच में कुछ भी सामने नहीं आया था लेकिन अब इस मामले में पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है। युवक का नाम अक्षय गायकर (24) है जो कि एयरपोर्ट की सुरक्षा में लगी एक प्राइवेट सुरक्षा कंपनी में सुपर वाइजर का काम करता है। अक्षय ने अपने बयान में पुलिस को बताया कि उसके दिमाग में यह बात एक फिल्म देख कर सूझी। बाकी उसका उद्देश्य किसी भी तरह की कोई घटना को अंजाम देना नहीं था।

क्या था मामला?

29 नवंबर को इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर स्थित एयर कार्गो के टॉयलेट में एक धमकी भरा लेटर मिला था जिसमें लिखा था कि आने वाली 26 जनवरी को एयरपोर्ट पर हमला किया जायेगा। इस लेटर में ISIS का हस्ताक्षर था। इस लेटर के मिलने से सुरक्षा एजेंसियों की नींद उड़ गयी। तत्काल कार्गो परिसर से सभी को बहार निकाल दिया गया। CISF सहित स्थानीय पुलिस और डॉग स्क्वॉयड ने पूरे परिसर की जांच की, हालाँकि उस समय पुलिस ने जब जांच की तो उन्हें कुछ भी नहीं मिला। इसे अफवाह मान लिया गया।

यह भी पढ़ें : एयरपोर्ट कार्गो के टॉयलेट में मिला ISIS का धमकी भरा नोट

CCTC के जरिये पकड़ा गया आरोपी

पुलिस ने अपनी जांच छोड़ी नहीं थी। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात शख्स के खिलाफ मामला दर्ज किया था। पुलिस ने टॉयलेट और पूरे परिसर में लगे सारे CCTV  के फुटेज चेक किये। उसमें पुलिस को अक्षय दिखा। उसकी गतिविधि भी पुलिस को संदेहजनक लगी। संदेह के आधार पर पुलिस ने अक्षय गायकर को हिरासत में लिया, पूछताछ में अक्षय ने पुलिस के सामने सब कुछ सच सच उगल दिया।

यह भी पढ़ें : मुंबई एयरपोर्ट में महिला के पास मिले 48 लाख डॉलर

आखिर क्यों किया अक्षय ने ऐसा?

अक्षय ने पुलिस को बताया कि वह SIS नामकी एक सुरक्षा एजेंसी में सुपर वायजर का काम करता है। अक्षय ने पुलिस को आगे बताया कि उसने एक फिल्म देखी थी उस फिल्म में भी इसी तरह की एक घटना को फिल्माया गया था। उसी घटना को देख कर अक्षय के दिमाग में भी इस तरह की एक फितूर ने जन्म लिया और उसे इस घटना को रियाल लाइफ में अंजाम देने की सूझी।

यह भी पढ़ें : मुंबई एयरपोर्ट ने खुद का रिकॉर्ड तोड़ रचा कीर्तिमान, 24 घंटे में 969 उड़ाने!

उद्देश्य की जानकारी नहीं

पुलिस ने बताया कि अक्षय के इस कार्य के पीछे क्या उद्देश्य था इस बारे में कोई जानकारी हाथ नहीं लगी है। बकौल अक्षय उसने ऐसा मजाक में किया था इस घटना के पीछे उसका कोई बुरा मकसद नहीं था।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय