श्रीकांत पांगारकर ने की थी हथियारो के लिए आर्थिक मदद!

एटीएस ने कोर्ट के सामने कहा की श्रीकांत पांगारकर ने ही हथियारो की सप्लाई के लिए पैसे दिए थे।

SHARE

नालसोपारा हथियार मामले में गिरफ्तार श्रीकांत पांगारकर ने ही हथियारो को खरिदने के लिए वित्तीय सहायता की थी। एटीएस की जांच में इस बात का खुलासा हुआ है। आपको बता दे की नालासोपारा में वैभव राउत के घर पर छापेमारी के दौैरान भारी मात्रा में हथियार बरामद हुए थे। एटीएस विशेष अदालत ने 28 अगस्त तक श्रीकांत पांगारकर को पुलिस हिरासत में भेज दिया है। श्रीकांत पांगारकर शिवसेना का पूर्व नगरसेवक है।

हार्ड डिस्क, पेन ड्राइव, तीन मोबाइल जब्त
श्रीकांत पांगारकर ने नालसोपारा में पाए गए हथियारों की खरीद के लिए वैभव राऊत, शरद कलसकर और सुधन्वा गोंधलकर को आर्थिक सहायता दी थी। एक हार्ड डिस्क, पेन ड्राइव, तीन मोबाइल फोन और कुछ संदिग्ध सामग्री और कुछ आपत्तिजनक किताबों को उनके घर से जब्त कर लिया गया है।

यह भी पढ़े- केरल में बाढ़ राहत कोष में एनसीपी के सभी नगरसेवक देगे एक महीने की सैलरी

सचिन अंदुरे ने की  डॉ. नरेंद्र दाभोलकर की हत्या 

वैभव राउत को गिरफ्तार करने के बाद राज्यभर में गिरफ्तरियां शुरु हो गई है। साथ ही इस बात का भी खुलासा हुआ है औरंगाबाद से गिरफ्तार किये गए सचिन अंदुरे ने ही अंधश्रद्धा निर्मूलन समिती के अध्यक्ष डॉ. नरेंद्र दाभोलकर की हत्या की थी। सचिन अंदुरे से पुछताछ के बाद ही पांगारकर का नाम आगे आया था। पांगारकर दो बार नगरसेवक चुनकर आया था। साल 2012 में उसने शिवसेना छोड़कर हिंदुवादी संगठन में शामिल हो गया था।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें