गौरी लंकेश मर्डर केस: सुधन्वा गोंधलेकर को SIT ने अपनी हिरासत में लिया


SHARE

विशेष जांच दल (एसआईटी) ने पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश मामले में सुधन्वा गोंधलेकर को हिरासत में लिया है। गोंधलेकर इसके पहले महाराष्ट्र आतंकवाद रोधी दस्ता (एटीएस) की गिरफ्त में था। महाराष्ट्र एटीएस ने मुंबई से सटे पालघर के नालासोपारा इलाके में मिले वैभव राउत के घर और दुकान से मिले विस्फोटकों के एक बड़े जखीरे की जब्ती के सिलसिले में अगस्त महीने में में सुधन्वा गोंधलेकर को पुणे में गिरफ्तार किया था। 


पढ़ें: दाभोलकर हत्या मामला: सीबीआई को मिली शरद कलसकर की कस्टडी


दोंनो हत्याओं के तार आपस में जुड़े

एसआईटी सूत्रों केअनुसार सतारा के रहने वाले गोंधलेकर ने गौरी लंकेश की हत्या में अपनी भूमिका की बात कबूली है। इसके साथ ही मामले में अब तक 14 संदिग्धों को गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस ने गोंधलेकर को कोर्ट में पेश किया, कोर्ट ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

सभी सनातन संस्था के सदस्य

आपको बता दें कि इसके पहले डॉ. नरेंद्र दाभोलकर हत्याकांड में और गौरी लंकेश हत्याकांड के तार आपस में जुड़े होने की बात पुलिस ने कही थी। पुलिस ने दाभोलकर हत्याकांड में जिस आरोपी शरद कलसकर को गिरफ्तार किया है वे और गोंधलेकर सभी सनातन संस्था के सदस्य बताये जाते हैं। 

गौरतलब है कि नालासोपारा में मिले हथियार के जखीरे मामले में पुलिस ने विभव राउत सहित सुधन्वा गोंधलेकर और शरद कलसकर को गिरफ्तार किया था।

पढ़ें: खुलासा: कट्टर हिंदू संगठन की हिट लिस्ट में थे ये 'बड़े नाम'

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें