• CCTV: जिसे पुलिस साधारण एक्सीडेंट केस मान रही थी, वह हत्या का मामला निकला
  • CCTV: जिसे पुलिस साधारण एक्सीडेंट केस मान रही थी, वह हत्या का मामला निकला
SHARE

मुंबई के दहिसर स्टेशन पर 13 अक्टूबर के दिन चलती ट्रेन से गिरकर एक शख्स की मौत हो गयी थी। पुलिस ने इस मामले को एक्सीडेंटल डेथ मान कर चल रही थी, लेकिन जब पुलिस ने और भी जांच शुरू की तो चौंक गई। दरअसल जिसे पुलिस जिसे एक्सीडेंटल डेथ मान कर चल रही थी दरअसल वह हत्या का मामला साबित हुआ। यह खुलासा हुआ रेलवे स्टेशन पर लगे सीसीटीवी फुटेज से। अब इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

मृतक:  जयराम गुप्ता 

क्या है मामला?

दहिसर रेलवे स्टेशन पर 13 अक्टूबर के दिन शाम को जब 5:21 बजे वाली ट्रेन पहुंची तो विरार निवासी जयराम गुप्ता चलती ट्रेन से उतरने के प्रयास में गिर जाते हैं और काफी चोटिल हो जाते हैं। जिससे उनकी मौत हो जाती है। प्रथम द्रष्टया बोरीवली रेलवे पुलिस ने गुप्ता की मौत को हादसा समझकर एडीआर दर्ज किया। बाद में स्टेशन पर लगे सीसीटीवी फुटेज को जब पुलिस ने बहुत बारीकी से खंगाला तो पुलिस को सारा माजरा समझ में आ गया।

सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा था कि तीन लोग उसी डिब्बे से उतरकर भागते हैं जिस डिब्बे से गिर करा गुप्ता की मौत हुई थी। यही नहीं पुलिस को गुप्ता के पास से न तो मोबाइल मिला और न ही उसका पर्स, यह बात पुलिस को थोड़ा अजीब लगी। क्योंकि आज के समय में ऐसा ही कोई हो जिसके पास मोबाइल न हो।  इसके बाद सीसीटीवी से मिले सूबतों के आधार पर पुलिस ने आईपीसी की धारा 304 दर्ज कर तीन लोगों को मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर हर्षद राठौड़ (19), केविन फर्नांडीज (18) और अनिकेत विश्वकर्मा (18) को गिरफ्तार किया।

गिरफ्तार तीनो आरोपी गिरफ्त में आए आरोपियों ने पूछताछ में जो बात पुलिस को बताई उसे सुन कर पुलिस भी सकते में आ गयी। इन्होने बताया कि ये लोग झपटमारी का काम करते हैं। 13 अक्टूबर की शाम को भी ये यात्रियों का मोबाइल और पर्स चुराने के लिए निकले हुए थे। इनके टारगेट पर जयराम गुप्ता था, जैसे ही इन्होने उसका मोबाइल और पर्स चुराया वैसे ही गुप्ता को पता चल गया। उसने जैसे ही चिल्लाना चूरू किया तभी दहिसर स्टेशन आने की वजह से ट्रेन धीमी हो गई। और ये तीनों चलती ट्रेन से कूद पड़े, इन्हीं को पकड़ने के चक्कर में जयराम भी चलती लोकल से कूद पड़ते हैं लेकिन बैलेंस नहीं संभाल पाने के कारण प्लेटफॉर्म पर गिर कर बुरी तरह से घायल हो जाते हैं और इनकी मौत हो जाती है।

जीआरपी की माने तो इस हादसे के अलावा इन्होंने 26 अक्टूबर को भी एक अन्य व्यक्ति को लूटने की कोशिश की थी। उस यात्री के विरोध करने पर इन्होने उसे चाकू मार दिया और चलती ट्रेन से कूद कर फरार हो गए थे।इनके खिलाफ अलग-अलग पुलिस स्टेशनो में कई मामले दर्ज हैं। इसकी जांच करने के साथ-साथ जीआरपी आगे की कार्रवाई में जुट गयी है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें