बिना टिकट यात्रा करने वालों की खैर नहीं, रेलवे ने बनाया विशेष टीम

ऐसे लोगों से निपटने के लिए रेलवे ने टीम का गठन किया है जो केवल यात्रियों के टिकट की जांच करेगी। हालांकि इस टीम के अलावा टीसी भी टिकट जांच करेंगे।

SHARE

 

रेलवे द्वारा बार-बार ट्रेन में बिना टिकट यात्रा नहीं करने की अपील और कार्रवाई के बाद भी लोकल ट्रेनों में बिना टिकट यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो रही है। ऐसे लोगों से निपटने के लिए रेलवे ने टीम का गठन किया है जो केवल यात्रियों के टिकट की जांच करेगी। हालांकि इस टीम के अलावा टीसी भी टिकट जांच करेंगे।

मध्य रेलवे ने मुंबई, भुसावल, नागपुर, सोलापुर जैसे विभाग से छह महीने ने मुफ्त में यात्रा करने वाले यात्रियों से अब तक कुल 100 करोड़ रुपए जुर्माने के रूप में वसूल चुकी है। पिछले साल जुर्माने की रकम इससे ही अधिक थी, इसका मतलब है कि कार्रवाई के बाद भी यात्रियों द्वारा बिना टिकट यात्रा करने की आदत पर रोक नहीं लग रई है। इसे देखते हुए रेलवे ने टिकट जांच दल का गठन किया है।

यह विशेष दल प्रथम श्रेणी, द्वितीय श्रेणी, महिला डिब्बे, लगेज, विकलांग डिब्बे में यात्रा करने वाले यात्रियों के टिकट की जांच तो करेगा है साथ ही टिकट नहीं होने पर दंडात्मक कार्रवाई भी करेगा।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें