बढ़ रही है कुपोषित बच्चो की संख्या

 Mumbai
बढ़ रही है कुपोषित बच्चो की संख्या

बीएमसी स्कूलो में हर तीन बच्चो में से एक बच्चा कुपोषित है। 2013-14 में 30,461 बच्चे कुपोषित थे, तो वही 2015-16 में 1,30,680 बच्चो को कुपोषित पाया गया है। बीएमसी स्कूलो में 1ली कक्षा से लेकर 5वीं कक्षा तक के छात्रों को भोजन दिया जाता है। लेकिन पिछलें दो सालों से इस भोजन की रकम में कटौती की गई है। प्रजा फाउंडेशन की ओऱ से इस जानकारी को रिलीज किया गया है।

मुंबई के गोवंडी इलाके में 51 फिसदी बच्चे कुपोषित है। तो वही चेंबूर, कुलाबा, ग्रॅट रोड, भायखला, माटूंगा जैसे इलाको में भी कुपोषित बच्चो की संख्या में बढ़ोत्तरी देखी जा रही है। 2013-14 में पहली कक्षा में पढ़नेवाले कुपोषित बच्चो की संख्या 3,123थी। तो वही साल 2015-16 में ये संख्या बढ़कर 10802 हो गई। तो वही पांचवी में पढ़नेवाले बच्चो की संख्या 2013-14 में 2591थी तो वही 2015-16 में यह संख्या बढ़कर 10,562 पर पहुंच गई।

प्रजा फाऊंडेशन के संचालक मिलींद म्हस्के का कहना है की बीएमसी स्कूलों के ये आकड़े काफी डरावने है। बीएमसी को बच्चो की इस स्थिती पर नजर रखनी चाहीए।

Loading Comments