BMC स्कूलों में भी CBSE, ICSE के सिलेबस

पायलट प्रोजेक्ट के रूप में, सिलेबस को शैक्षणिक वर्ष 2020-21से दो स्कूलों में शुरू किया जाएगा।

SHARE

बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC)शिक्षा विभाग ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) और भारतीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (ICSE)के बोर्ड सिलेबस को सिविक-रन स्कूलों में शुरू करने का निर्णय लिया है। पायलट प्रोजेक्ट के रूप में, सिलेबस को शैक्षणिक वर्ष 2020-21से दो स्कूलों में शुरू किया जाएगा। बीएमसी ने छात्रों की घटती संख्या को कम करने और अपने स्कूलों में अधिक छात्रों को आकर्षित करने के लिए इस पर निर्णय लिया है।

पायलट प्रोजेक्ट के तहत

शिक्षा समिति की अध्यक्ष अंजलि नाइक ने कहा की “हमने BMC स्कूलों में CBSE और ICSE पाठ्यक्रम शुरू करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। प्रारंभ में, केवल दो स्कूलों को पायलट आधार पर चुना गया है। यदि हमें सकारात्मक प्रतिक्रिया मिलती है, तो अन्य स्कूलों के साथ आगे बढ़ेंगे,इन पाठ्यक्रमों में नामांकन के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा, छात्रों को लॉटरी प्रक्रिया द्वारा मुफ्त में प्रवेश मिलेगा"

नए शिक्षकों को काम पर नहीं रखा जाएगा
इसके साथ ही समाचार पत्रों में विज्ञापन भी जारी किए जाएंगे और बैनर स्कूलों और आवासीय क्षेत्रों के पास लगाए जाएंगे। अब नए शिक्षकों को काम पर नहीं रखा जाएगा क्योंकि बीएमसी स्कूलों में कई योग्य शिक्षक हैं।हालांकि, पात्रता के लिए लिए साक्षात्कार और परीक्षण आयोजित किए जाएंगे। इन शिक्षकों को नए पाठ्यक्रम के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा।शिक्षा समिति से सकारात्मक प्रतिक्रिया के बाद प्रस्ताव को मंजूरी के लिए बीएमसी प्रमुख प्रवीण परदेशी के पास भेजा गया था। मंगलवार को हुई बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।

आईसीएसई बोर्ड का सिलेबस केवल माहिम के जी / नॉर्थ वार्ड में वूलीनमिल म्यूनिसिपल स्कूल और पूनम नगर, जोगेश्वरी पूर्व के स्कूलों में सीबीएसई बोर्ड के सिलेबस में लागू किया जाएगा।

यह भी पढ़े- महाराष्ट्र सरकार का आदेश, 26 जनवरी से स्कूलों में संविधान की प्रस्तावना पढ़ना अनिवार्य

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें