अब फिल्म डांसरों ने राम कदम पर काम छीनने का लगाया आरोप


SHARE

महिला विरोधी बयान देकर विवादों में फंसे बीजेपी विधायक राम कदम पर अब एक और आरोप लगा है और यह आरोप लगाया है सिने डांस एसोसिएशन के मेंबर कई महिलाओं ने। फिल्मों में डांस का काम करने वाली इन महिलाओं का आरोप लगाया है कि राम कदम की अध्यक्षता वाली एक यूनियन नए डांसर्स को मात्र कुछ रूपये में कार्ड बना कर दे रहे हैं और उनके पेट पर लात मार रहे है।

'हमारी जगह काम करवाया जा रहा है'
CDA (सिने डांस एसोसिएशन) नामकी यूनियन फिल्मों में डांस करने वालों को अपनी यूनियन के नाम से कार्ड उपलब्ध कराता है जिससे डांसरों को फिल्मों में डांस का काम मिलता है। इसी यूनियन की कई महिला सदस्यों की तरफ से नम्रता जाधव नामकी एक महिला डांसर ने शिकायत किया है कि CDA के सामानांतर ही राम कदम ने एक और यूनियन 'आल इंडिया स्क्रीन डांसर्स एसोसिएशन' (AISDA) बनाई है जो लोगों को मात्र 2-5 हजार में कार्ड उपलब्ध करा कर हमारी जगह काम करवा रहे हैं।


'काम करने से हमें रोका जा रहा है'
नम्रता जाधव राम कदम को लड़कियों का रेस्पेक्ट करने की सलाह देते हुए कहती है कि आपके विचार लड़कियों के खिलाफ चाहे जो भी हो लेकिन अब हमारे पेट पर लात क्यों मार रहे हो? आरोप लगाते हुए जाधव आगे कहती है कि CDA के समानांतर कोई यूनियन बना कर कदम हमारा का छीन रहे हैं, हमे काम करने नहीं दिया जा रहा है, उन्हें शूटिंग करने से रोका जा रह है। जाधव अंत में कदम को कहती है कि कृपया करके वे ऐसा न करें।

'सभी आरोप निराधार'
जब इस बारे में मुंबई लाइव ने आल इंडिया स्क्रीन डांसर्स एसोसिएशन के कोषाध्यक्ष राकेश मौर्या से बात किया तो उन्होंने इन सभी आरोपों को निराधार बताया। मौर्या ने कहा कि CDA के आरोप बेबुनियाद है AISDA किसी के पेट पर लात नहीं मार रही है। उन्होंने स्पष्टीकरण देते हुए आगे कहा कि CDA एक कार्ड बनाने का 3 लाख रूपए लेती है, ऐसे में कोई गरीब आदमी कार्ड बनवाए भी तो कैसे? और AISDA की तरफ से टैलेंटेड और युवा डांसरों को कार्ड बना कर दिया जाता है और युवाओं को डांस में मांग भी होती है जबकि CDA के अधिकांश सदस्यों की उम्र 35-40 साल है। अब अगर कोई युवा हीरो डांस करेगा तो युवाओं की डिमांड होगी न कि बूढ़े लोगों की। अब इसमें CDA वालों को काम नहीं मिल रहा है तो हमारा क्या दोष।

मामला चाहे जो भी हो राम कदम के सितारे इस समय गर्दिश में चल रहे हैं। एक तरफ आपत्तिजनक बयान देने वाले मामले में विपक्ष शांत होने के मूड में नहीं है तो दूसरी तरफ अब और नया आरोप। अब देखना होगा अब यह मामल आगे क्या मोड़ लेता है?

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें