साहित्यकार वामन होवाल का निधन

 Pali Hill
साहित्यकार वामन होवाल का निधन
साहित्यकार वामन होवाल का निधन
साहित्यकार वामन होवाल का निधन
साहित्यकार वामन होवाल का निधन
साहित्यकार वामन होवाल का निधन
See all

मुंबई - बेनवाडा, येलकोट, वाटा आडवाटा, वारसदार जैसी प्रसिद्द मराठी रचना लिखने वाले वरिष्ठ मराठी साहित्यकार वामन होवाल का शुक्रवार रात 9 बजे ह्रदयगति रुकने से निधन हो गया। वे 78 वर्ष के थे। उनके तबियत ख़राब होने के कारण उन्हें शुक्रवार शाम को अस्पताल में दाखिल कराया गया था। लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका । उनका भरापूरा परिवार था। उनके परिवार में उनकी पत्नी सहित दो बेटे और बहू और बच्चे हैं। पिछड़े लोगों के उत्थान के लिए उन्होंने पुरे महाराष्ट्र का दौरा किया था और कई किताबे भी लिखी थी। इसके अलावा उन्होंने राज्य स्तरीय साहित्य सम्मलेन के अध्यक्ष की भूमिका भी निभाई थी। वामन का परिवार मूल रूप से सांगली का है उच्च शिक्षा के लिए वे मुंबई आये थे। स्कूली समय में ही उनके अंदर लिखने की ललक पैदा हुई। होवाल ने ‘आमची कविता’ के नाम से कविता संग्रह का संपादन भी किया हुआ था। इनकी तीन कथा संग्रह को सरकार द्वारा उत्कृष्ट साहित्य का पुरस्कार दिया गया था। टागोर नगर के स्मशान भूमि मे उनका अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार में आरपाआई(आठवले गट) प्रमुख और केंद्रीय सामाजिक न्याय व्यवस्था राज्यमंत्री रामदास आठवले भी शामिल हुए। 

Loading Comments