SHARE

ट्राई (TRAI) द्वारा चैनल चूज करने का नियम लागू करने के बाद अब बड़े ब्रॉडकास्टर अपने हिंदी एंटरटेनमेंट चैनल्स को प्रसार भारती के फ्री-टु-एयर प्लेटफॉर्म से हटाने का फैसला किया है। अगर ऐसा होता है तो डीडी फ्री डिश टीवी देखने वाले उपभोक्ता करीब 2.2 करोड़ उपभोक्ता जी अनमोल, स्टार उत्सव, रिश्ते सिनेप्लेक्स, स्टार भारत और सोनी पल जैसे पॉपुलर चैनल्स का लुत्फ नहीं ले पाएंगे।

आपको बता दें कि स्टार इंडिया, जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज, सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया (एसपीएन) और वायकॉम 18 जैसे टॉप ब्रॉडकास्टर के कई हिंदी मूवी चैनल और हिंदी के टीवी सीरियल प्रसारित करते हैं. अगर ये बड़ी-बड़ी कंपनियां अपने प्लेटफॉर्म से जी अनमोल, स्टार उत्सव, रिश्ते सिनेप्लेक्स, स्टार भारत और सोनी पल जैसे पॉपुलर चैनल्स हटा लेते हैं तो 2 करोड़ से अधिक उपभोक्ता अपने पसंद के सीरियल नहीं देख पाएंगे। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक देश के चार टॉप ब्रॉडकास्टर्स ने यह फैसला सर्वसम्मति से किया है कि वे सभी हिंदी एंटरटेनमेंट चैनल या मूवी चैनल फ्री डिश पर नहीं दिखाएंगे। कंपनियों के मुताबिक ट्राई द्वारा चैनल चुनाव करने के नियम के बाद उपभोक्ता फ्री डीटीएच की तरफ न चले जाए इसीलिए मुफ्त के चैनलों को बंद किया जायेगा। हालांकि अभी तक किसी भी बड़े ब्रॉडकास्टर्स की तरफ से इस बात की आधिकारिक घोषणा नहीं की गयी है।

गौरतलब है कि फ्री डीटीएच मेंएक बार डिश लगवाने पर ग्राहकों को कोई भी पैसा नहीं देना पड़ता है। ग्राहक को केवल डिश खरीदनेके समय पर ही पे करना पड़ता है। एक अनुमान के मुताबिक डीडी फ्री डिश के लगभग देश भर में 2.2-2.5 करोड़  सब्सक्राइबर हैं। जबकि कंसल्टिंग फर्म अर्न्स्ट एंड यंग ने इस सब्सक्राइबर का अनुमान 2020 तक 4 करोड़ तक पहुंचने का लगाया है।

साल 2004 में दूरदर्शन ने डीडी फ्री डिश यानी डीडी डायरेक्ट प्लस को 33 टीवी चैनल्स के साथ लॉन्च किया था। इसके बाद इन चैनल्स की संख्या बढ़कर पहले 59 हुई, फिर दिसंबर 2014 में 104 तक पहुंच गई। डीडी फ्री डिश की ग्रामीण क्षेत्रों में काफी अच्छी पकड़ है, जिसके चलते प्राइवेट ब्रॉडकास्टर्स भी इसके प्लेटफॉर्म पर फ्री-टु-एयर चैनल्स दिखाने लगे।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें