Advertisement

पवई तालाब हुआ ओवरफ्लो, आसपास बस्तियों में रहने वाले लोगों की बढ़ी चिंता

पवई तलाब में लगभग 545 करोड़ लीटर पानी जमा होता है। लेकिन इस तलाब का पानी पीने योग्य नहीं होने के कारण इसका उपयोग औद्योगिक कार्यों के लिए लाया जाता है।

पवई तालाब हुआ ओवरफ्लो, आसपास बस्तियों में रहने वाले लोगों की बढ़ी चिंता
SHARES

मुंबई में पिछले 3 दिनों से लगातार बारिश हो रही हैै। इस बारिश से पवई इलाके में स्थित पवई तालाब (pawan lake overflow) ओवरफ्लो होकर बहने लगा है। यह तालाब BMC के अंतर्गत आता है जो कि कृतिम तालाब है। ओवरफ्लो होने की वजह से इस तालाब का पानी मीठी नदी (mithi river) में जाता है।

बीते तीन दिन से इस इलाके में लगातार बारिश होने के वजह से यह तालाब भर गया। पवई तालाब (pawai lake) में लगभग 545 करोड़ लीटर पानी जमा होता है। लेकिन इस तलाब का पानी पीने योग्य नहीं होने के कारण इसका उपयोग औद्योगिक कार्यों के लिए लाया जाता है।

 बताया जाता है कि साल 1890 में 12.59 लाख रुपये खर्च कर इस कृत्रिम तालाब को बनाया गया था।

लेकिन चिंता की बात यह है कि तालाब का पानी ओवरफ्लो होने से मीठी (mithi river) नदी का जलस्तर अब बढ़ जाएगा और मीठी नदी के किनारे बसे लोगों के घरों में पानी भरने का खतरा बना रहेगा।

यह तालाब 6.61 वर्गफुट किलोमीटर क्षेत्रफल का है।जबकि इस तालाब का पूर्ण भराव स्तर 195 फीट है। झील के भरे होने और बहने के बाद, इस झील का पानी मीठी नदी में चला जाता है। और वहां से समुद्र में मिल जाता है। लेकिन इसके पानी से अब मीठी नदी का जलस्तर बढ़ेगा और पानी आसपास बसे बस्तियों में जाएगा।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय