रॉयल टाइगर की मौत

 Borivali
रॉयल टाइगर की मौत
रॉयल टाइगर की मौत
See all

बोरीवली- संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान में टाइगर सफारी का एक मात्र रॉयल टाइगर कहे जाने वाले पलाश बाघ की मौत हो गई है। 13 वर्षीय इस बाघ ने मंगलवार सुबह अंतिम सांस ली। पलाश को 2006 में 3 वर्ष की उम्र में भोपाल के वनविहार से संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान में लाया गया था। पलाश से बसंती बाघिन ने आनंद व यश नाम के दो बाघों व लक्ष्मी बाघिन को जन्म दिया था। जो टाइगर सफारी में ही रहते हैं। पिछले दिनों अमिताभ बच्चन ने बाघ परियोजना का अंबेसडर बनने के बाद नेशनल पार्क में टाइगर सफारी की थी। उनकी गाड़ी का पलाश ने काफी दूर तक पीछा भी किया था। पिछली कई महीनों से पलाश कई गंभीर बीमारियों से जूझ रहा था। एक सप्ताह पूर्व इसने खाना-पीना भी छोड़ दिया था। बॉम्बे पशुवैद्यकीय महाविद्यालय के डॉक्टरों द्वारा पलाश का इलाज किया जा रहा था। लेकिन इसे बचाया नहीं जा सका।

Loading Comments