'याल तर हसाल’ का 644वां प्रयोग

 Shivaji Mandir
'याल तर हसाल’ का 644वां प्रयोग
'याल तर हसाल’ का 644वां प्रयोग
'याल तर हसाल’ का 644वां प्रयोग
'याल तर हसाल’ का 644वां प्रयोग
'याल तर हसाल’ का 644वां प्रयोग
See all

शिवाजी मंदिर – संजीवन म्हात्रे की लिखी हुई और शेखर म्हात्रे द्वारा निर्मीत ‘याल तर हसाल’ इस एकपात्री नाटक का अनावरण बुधवार को दादर के शिवाजी मंदिर में किया गया। मुंबई में इस नाटक को मराठी भाषा में पेश किया गया। पूरे महाराष्ट्र में अब तक 643 प्रयोग इस नाटक का हुआ है तो वही 644वां प्रयोग मुंबई में हुआ।

Loading Comments