जीएसबी गणेश पंडाल में बप्पा को 20 करोड़ के सोने के आभूषणों से सजाया गया

जीएसबी पंडाल की गणपति को सबसे मंहगी गणपति भी कहा जाता है

SHARE

देश की सबसे मंगही गणपति जीएसबी गणेश पंडाल में इस बार बप्पा पर सोने के आभूषणों की बरसात हो गई है।  मुंबई के वडाला क्षेत्र में किंग सर्कल के समीप गौड़ सारस्वत ब्राह्मण (जीएसबी) सेवा मंडल की ओर से स्थापित 14 फीट ऊंची गणपति प्रतिमा देखने पर भक्तों को बप्पा के होने का अहसास होता है।    इस बार गणपति को 20 करोड़ के सोने के आभूषणों से सजाया गया है। दक्षिण भारत की परंपरागत तौर-तरीकों से आरती करते पुजारी भी महाराष्ट्र में अलग और अनूठी आस्था का अनुभव कराते हैं।

मूर्ति की देश भर मेें चर्चा का बड़ा कारण 266.65 करोड़ रुपए का बीमा कराना भी है। इसके अलावा करोड़ों रुपए के आभूषणों की निगरानी के लिए 100 सीसीटीवी कैमर भी लगवाएं है।  चार हजार 500 सुरक्षाकर्मी मंडल कार्यकर्ताओं के साथ व्यवस्था में तैनात हैं। यहां तक कि फलों, सब्जियों और किराने के 2,200 से अधिक सामानों और मंडल के लिए काम करने वाले श्रमिकों व स्वयंसेवकों को बीमे में कवर करता है।

गौड़ सारस्वत ब्राह्मण सेवा मंडल की शुरुआत 1951 में हुई थी। इस बार का पंंडाल 70 हजार वर्ग फीट से ज्यादा का है।मंडल ने साल 2017 और साल 2018 में बीमा कवर लिया था।   2017 और 2018 में मंडल में क्रमशः 264.25 करोड़ रुपये और 265 करोड़ रुपये का बीमा कवर था। मंडल ने इसके साथ ही इस साल भी अपने पंजाल में इको फ्रेंडली माहौल बनाने का भी पूरा ध्यान रखा है। पंडाल में प्लास्टिक के कम इस्तेमाल का संदेश देने के लिए  बॉटल क्रशर मशीन भी लगाई जाएगी।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें