बुरा ना मानो होली है , लेकिन इन बातों का भी रखें ख्याल!

मुंबई में कई सोसायटी और इमारत के लोगों ने हर बार की तरह इस बार भी केमिलकर कलर का इस्तेमाल ना करने का फैसला किया है।

SHARE

मुंबई में होली बड़े ही धूम धाम से मनाई जाती है। क्या युवा , क्या बुजुर्ग सभी लोग होली के दिन घरों से बारह निकलकर एक दूसरे को रंग लगाते है। मुंबईकरो की एक खास बात ये रहती है वो होली को जितना हो सकता है उतने की इकोफ्रेंडली तरिके से मनाते है। मुंबई में कई सोसायटी और इमारत के लोगों ने हर बार की तरह इस बार भी केमिलकर कलर का इस्तेमाल ना करने का फैसला किया है।

होली खेलते समय सबसे पहले इस बात का ध्यन जरुर रखें की केमिकल रंग का इस्तेमाल जरा भी ना करे, ऐसे कलर्स ना सिर्फ शरीर पर लंबे समय तक रहते है बल्की इनसे शरीर के अंगों को केमिलक रिएक्शन भी हो सकता है। इसके साथ ही एलर्जी, खुजली, त्वचा की जलन की भी समस्या हो सकती है।


बॉलीवुड निर्देशक राजकुमार संतोषी नानावटी अस्पताल में भर्ती

इन बातों की रखें सावधानियां

  • होली खेलने से पहले शरीर पर नारियल तेल, जैतून का तेल, सरसों के तेल या वेसलीन लगाकर बाहर निकले , इससे रंग शरीर पर नहीं चिपकता है।
  • प्राकृतिक रंगों का उपयोग
    प्राकृतिक रंगों का उपयोग करें और इसके बारे में जागरूकता बनाएं। हर्बल, हल्दी, चाय की पत्तियों, हिना, मैरीगोल्ड फूलों से बने प्राकृतिक रंग बाजार में उपलब्ध हैं।
  • रंग को शरीर से निकलाने के लिए ठंडे पानी का इस्तेमाल , जहां तक हो सके सॉफ्ट कपड़े का ही इस्तेमाल करें।
  • आंखों और होंठों पर पानी का हल्के से इस्तेमाल करें।
  • होली खलने के पहले बालो पर नारियल का तेल लगाये।
  • होली खेलने के बाद बाल कंडीशनर द्वारा साफ करे।
संबंधित विषय