भारत सहित दुनिया भर में शराबियों की संख्या में इजाफा

2010 और 2017 के बीच, भारत में शराब की खपत 38 फीसदी तक बढ़ी और यह मात्रा प्रति वर्ष 4.3 से 5.9 लीटर प्रति वयस्क (व्यक्ति) रही है।

SHARE

भारत सहित दुनिया भर में शराबियों की संख्या में इजाफा हुआ है। ‘द लांसेट’ जर्नल में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में  साल 2010 से लेकर 2017 के बीच शराब की खपत में सालाना 38 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। तो वहीं साल 1990 के बाद से विश्व स्तर पर शराब के उपभोग की कुल मात्रा में 70 प्रतिशत की वृद्धि हुई।  

अमेरिका और चीन से थोड़े ही पीछे 
‘द लांसेट’ अपनी रिपोर्ट में कहता है कि 2010 और 2017 के बीच, भारत में शराब की खपत 38 फीसदी तक बढ़ी और यह मात्रा प्रति वर्ष 4.3 से 5.9 लीटर प्रति वयस्क (व्यक्ति) रही है। जबकि अमेरिका में शराब की खपत (9.3 से 9.8 लीटर) और चीन में (7.1 से 7.4 लीटर) के साथ थोड़ी वृद्धि दर्ज की गई। 

जनसंख्या और शराब में वृद्धि एक साथ
रिपोर्ट के अनुसार साल 1990 के बाद से दुनिया भर में शराब के उपभोग  में 70 फीसदी की वृद्धि दर्ज कि गई है। इसका मतलब है कि जैसे-जैसे जनसंख्या बढ़ रही है वैसे-वैसे शराब की खपत भी बढ़ रही है। जहां यह साल 1990 में 2099.9 करोड़ लीटर थी तो वहीँ अब यह बढ़कर साल 2017 में 3567.6 करोड़ लीटर हो गई है। इसका एक मतलब यह भी है कि शराब पीने वालों को पीने से रोकने के लिए जो उचित कदम बनाए गये हैं उसका इस्तेमाल दुनिया भर में सही दिशा में नहीं हो रह । इसका कारण शराब इंडस्ट्री का राजनीति में बढ़ता प्रभाव भी हो सकता है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें

भारत सहित दुनिया भर में शराबियों की संख्या में इजाफा
00:00
00:00