Advertisement

KEM अस्पताल में पिछले 36 दिनों में 460 कोरोना मरीजों की मौत


KEM अस्पताल में पिछले 36 दिनों में 460 कोरोना मरीजों की मौत
SHARES

देश में कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है, जबकि महाराष्ट्र में मुंबई का भी हाल अच्छा नहीं है। देश मे जितने भी छोटे बड़े शहर हैं उनमें मुंबई शहर ऐसा है जहां कोरोना से सबसे अधिक मौतें हुई हैं। यही नहीं मुंबई के सबसे बड़े सरकारी अस्पतालों में से एक KEM अस्पताल में पिछले 36 दिनों में 460 लोगों की मौत होने की हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। इन मौतों को लेकर मरीजों के परिजनों ने अस्पताल में ऑक्सिजन की कमी होनेे का आरोप लगाया हैं।

इस अस्पताल में जिस तरह से मरीजों की मौत हो रही है उससे अब सवाल उठने लगे हैं। न्यूज़ चैनल एबीपी के खबर के मुताबिक KEM अस्पताल में पिछले 20 दिनों में 221 लोगो की मौत हुई जबकि 15 मई से लेकर अब तक कुल 460 मौतें हुई हैं।

यही नहीं 1 मई से लेकर 31 मई के बीच प्रतिदिन औसतन 15 मरीज की मौत हुई है, जिसके मुताबिक कुल 240 लोगों की मौत हुई है, जबकी एक जून से लेकर 20 जून तक 221 मौत दर्ज की गई है यानी कि औसतन 11 मरीजो की मौत हर दिन।

ABP से बात करते हुए KEM अस्पताल के डीन हेमंत देशमुख ने कहा कि कोरोना अपने पीक पर है और 15 मई से 20 जून तक जो मौतें हुईं वो दुर्भाग्यपूर्ण हैं।

साथ ही मरीजों के परिजनों द्वारा अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी होने से मरीजों की मौत होने के सवाल पर देशमुख ने बताया की 'अस्पताल में 11 हजार लीटर ऑक्सिजन की व्यवस्था है। उन्होंने आगे कहा, मौत होनेे की बात से इनकार नहीं किया जा सकता लेकिन मौत की वजह ऑक्सीजन की कमी है, ऐसा कहना गलत है, क्योंकि कई बार मरीज अस्पताल में देरी से आते हैं, जब तक भर्ती होते हैं तब तक पूरी स्थिति बिगड़ जाती है। जिससे मरीज की मौत हो जाती है।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें