Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
54,05,068
Recovered:
48,74,582
Deaths:
82,486
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
34,288
1,240
Maharashtra
4,45,495
26,616

मरीजों के बीच डेडबॉडी, एक और नया वीडियो हुआ वायरल


मरीजों के बीच डेडबॉडी, एक और नया वीडियो हुआ वायरल
SHARES


एक बार फिर से मुंबई के एक अस्पताल से कोरोना मरीजों के बीच डेडबॉडी रखे होने का वीडियो वायरल हुआ है। वीडियो में एक महिला की आवाज आ रही है, जिसका दावा है कि यह वीडियो राजावाड़ी अस्पताल (rajawadi hospital) का है। इस वीडियो को BJP नेता नितेश राणे (nitesh rane) ने ट्वीट करके एक बार फिर से सरकार पर निशाना साधते हुए अस्पताल की अव्यवस्था को उजागर किया है।

वीडियो में दिखाई दे रहा है कोरोना मरीजों के बीच एक डेडबॉडी रखी हुई है जो प्लास्टिक से सील है। डेडबॉडी के दाहिने तरफ एक कोरोना से पीड़ित महिला मरीज बैठी है जबकि डेडबॉडी के बाएं तरफ वीडियो बनाने वाली महिला है, जो मराठी भाषा मे कहती सुनाई दे रही है कि...'यह राजावाड़ी अस्पताल है और यह डेडबॉडी एक महिला की है जिसकी मौत कोरोना से हो गई है और यह डेडबॉडी करीब 11- 12 घंटे से यहां पड़ी है।

महिला आगे कहती है कि इस मृतक महिला ने कई बार पानी मांगा लेकिन कोई भी इसे पानी देने नहीं आया। इसके बाद महिला ने उसे अपने बोतल में से पानी दिया। लेकिन इस महिला ने तड़प तड़प कर जान दे दी।

महिला आगे कहती है कि अस्पताल के कर्मचारियों ने उसकी डेड बॉडी को प्लास्टिक बैग में लपेटकर वहीं पर अस्पताल में मरीजों के बीच छोड़ दिया है।'

वीडियो में यह भी दिखाई दे रहा है कि अस्पताल के उस कमरे में कई कोरोना मरीज हैं, साथ ही वीडियो बनाने वाली महिला बताती है कि यहां और भी डेडबॉडी पड़ी हुई है।

इसके बाद इस वीडियो को बीजेपी नेता नितेश राणे ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से शेयर किया, और महाविकास आघाड़ी सरकार पर निशाना साधा।

वीडियो के वायरल होने के बाद राजावाडी अस्पताल की डीन विद्या ठाकुर ने सफाई देते हुए कहा कि, कोरोना मरीज की मृत्यु के बाद नियमानुसार पूरी प्रक्रिया करने में आधा घंटा लग जाता है। अगर इसी बीच मृतक के रिश्तेदार आ जाते है तो उन्हें बॉडी दे दी जाती है नही आते तो डेड बॉडी को शवघर में रख दिया जाता है। इस दरम्यान बॉडी को एअर टाईट प्लास्टिक से कवर कर दिया जाता है। इसमें कोई जोखिम नहीं उठाया जाता।

आपको बता दें कि अभी कुछ दिन पहले भी इसी तरह का एक वीडियो सामने आया था, जो सायन अस्पताल का था। यहाँ भी अस्पताल के अंदर मरीजों के बीच कोरोना पीड़ित मृतकों की डेड बॉडी रखी थी।

अस्पताल का यह वीडियो वायरल होने के बाद देशभर में कोरोना मरीज और अस्पताल के अंदर की अव्यवस्था को लेकर सवाल खड़े हो गए थे। सरकार की किरकिरी होते देख कंट्रोल डैमेज करने के लिए सरकार ने बीएमसी कमिश्नर प्रवीण परदेशी की छुट्टी कर दी थी, इसके बाद इकबाल सिंह चहल को नवनियुक्त BMC कमिश्नर नियुक्त किया गया।

संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें