अच्छी पहल: गरीबों को मिल सके भोजन, अंधेरी में लगाए गए कम्युनिटी रेफ्रिजरेटर

अंधेरी की रहने वाली प्रीति खुराना ने बताया कि लोखंडवाला, वर्सोवा, ओशिवारा, डीएन नगर, और मीरा रोड पर इस तरह की पहल की गई है।

SHARE

मुंबई में कुछ स्थानों पर खाना बर्बाद होने से बचाने और उस खाने को जरूरतमंदों को मुहैया कराने के लिए कम्युनिटी (सामुदायिक) रेफ्रिजरेटर लगाए गए हैं। वह कम्युनिटी रेफ्रिजरेटर मुंबई के अंधेरी में लगाए गए हैं। अंधेरी के लोखंडवाला, वर्सोवा, ओशिवारा और डीएन नगर में यह कम्युनिटी रेफ्रिजरेटर लगाए गए हैं। साथ ही ठाणे के मीरा रोड में भी कम्युनिटी रेफ्रिजरेटर लगाया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस सेवा की शुरुआत कम्युनिटी रेफ्रिजरेटर एसोशिएशन और अंधेरी के स्थानीय रहवासियों ने की है। अंधेरी की रहने वाली प्रीति खुराना ने बताया कि लोखंडवाला, वर्सोवा, ओशिवारा, डीएन नगर, और मीरा रोड पर इस तरह की पहल की गई है। फ्रिज में खाना रखने की जिम्मेदारी पांचों स्थानों के स्थानीय लोगों और वर्सोवा वेलफेयर सोसाइटी की है।

इस कम्युनिटी रेफ्रिजरेटर में आर्थिक रूप में कमजोर व्यक्ति दोपहर में 1 बजे से 2.30 बजे और शाम को 7 बजे से रात 9.30 बजे तक खाना ले सकते हैं। 

प्रीति खुराना ने बताया कि पहला फ्रिज इसी साल जनवरी महीने में लगाया गया था। दूसरा 18 मई को लगाया गया था। इसके बाद अब तक कुल पांच फ्रिज लग चुके हैं। उन्होंने कहा कि यहां से खाना लेने वालों में मजदूर, ऑटोरिक्सा ड्राइवर, बीएमसी वर्कर आदि भी हैं। 

इस कम्युनिटी फ्रिज की देखभाल करने वाले नवीन कुमार मंडल के मुताबिक कम्युनिटी फ्रिज लगाने का मकसद यही है कि इससे अतिरिक्त खाने की बर्बादी रुकेगी और खाना  जरूरत मंदों तक पहुंचेगा। यह पहल उनके लिए हैं जो अति गरीब हैं और बेरोजगार होने के कारण सड़कों पर दिन बिताते हैं।

ओशिवारा में लगी कम्युनिटी रेफ्रिजरेटर की देखभाल इस समय मोर्या क्लासिक सोसाइटी न केवल देखभाल करती है, बल्कि फ्रिज की बिजली का बिल भी जमा करती है। कम्युनिटी फ्रिज में वेज खाना ही रखा जाता है। इनमें रोटी सब्जी, ताजे फल, स्नेक्स, बर्गर और बड़ा पाव प्रमुख हैं। खाना रखने के लिए लोगों का नाम तय किया गया है कि किस दिन कौन फ्रिज में खाना रखेगा। 

मुंबई में इस तरह की पहल काफी सराहनीय है। अगर इस तरह की पहल में और लोग भी जुड़ते हैं तो इससे बड़े पैमाने पर सड़कों पर भूखे रहने वाले गरीब लोगों को खाना नसीब हो सकेगा और होटलों पर खराब होने वाला खान भी काम में आ सकेगा। 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें