Advertisement

नवी मुंबई में बेघर, बेसहारा, सड़कों पर रहने वाले लोगों को भी लगेगा टीका

नवी मुंबई नगर निगम (nmmc) इस बात पर पूरा ध्यान दे रही है कि ऐसे उपेक्षित तत्व टीकाकरण से वंचित न रहें। नवी मुंबई नगर निगम क्षेत्र में बेघरों के लिए विशेष टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है।

नवी मुंबई में बेघर, बेसहारा, सड़कों पर रहने वाले लोगों को भी लगेगा टीका
SHARES

कोरोना वायरस (Coronavirus) की संभावित तीसरी लहर आने की खबरों के बीच नवी मुंबई नगर निगम (Navi Mumbai Municipal Corporation) ने अधिक से अधिक लोगों को टीका लगाने पर जोर दे रही है। इसके लिए नगर पालिका ने टीकाकरण केंद्रों (vaccination centre) की संख्या बढ़ा दी है। टीकाकरण में किसी भी वर्ग की उपेक्षा न हो इसका विशेष ध्यान रखा जा रहा है। इस टीकाकरण में बुजुर्गों, बिस्तर पर पड़े मरीजों और विकलांगों के लिए विशेष टीकाकरण सत्र आयोजित किए गए हैं।

इसका एक महत्वपूर्ण कारक सड़कों पर बेघर, बेघर लोग हैं जिनके सिर पर छत या आश्रय नहीं है, जो सड़कों के फ्लाईओवर के नीचे रहते हैं।

नवी मुंबई नगर निगम (nmmc) इस बात पर पूरा ध्यान दे रही है कि ऐसे उपेक्षित तत्व टीकाकरण से वंचित न रहें। नवी मुंबई नगर निगम क्षेत्र में बेघरों के लिए विशेष टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है।

अगले दस दिनों में बेघरों के लिए कोविड टीकाकरण का यह विशेष अभियान निगम के सभी आठ विभागों में लागू किया जाएगा। बेलापुर विभाग से बुधवार को टीकाकरण की शुरुआत की गई। नवी मुंबई बेघरों के लिए एक विशेष टीकाकरण अभियान शुरू करने वाला पहला नगर निगम है।

पिछले 15 दिनों से इस अभियान की योजना बनाने का काम शुरू किया जा चुका है। प्रत्येक विभाग में 8 से 10 स्थान सामाजिक विकास विभाग के समूह आयोजकों द्वारा तय किए गए हैं। इन स्थानों का दौरा करने और टीकाकरण कराने के लिए डॉक्टरों और नर्सों सहित विशेष स्वास्थ्य टीमों को नियुक्त किया गया है। टीम एंबुलेंस से निर्धारित स्थानों पर जा रही है और उस स्थान पर समूह आयोजकों द्वारा एकत्रित बेघर लोगों का टीकाकरण कर रही है।

चूंकि इन लोगों के पास कोई दस्तावेजी साक्ष्य नहीं है, इसलिए मशीन के माध्यम से ऐसे व्यक्तियों के उंगलियों के निशान लेकर उनके नाम सरकारी पोर्टल पर दर्ज किए जा रहे हैं। ये उंगलियों के निशान उनकी दूसरी खुराक के दौरान पहचान के लिए महत्वपूर्ण होंगे।

टीकाकरण के लिए लाए गए बेघर, बेसहारा व्यक्ति के लिए एक टीकाकरण एम्बुलेंस की स्थापना की जाएगी। पहली बार वहां हाथ धोने की व्यवस्था की गई है और उनके लिए चाय-बिस्किट की व्यवस्था की गई है। उसके बाद मशीन पर उनकी उंगलियों के निशान लेकर सरकारी पोर्टल पर उनका नाम दर्ज कर टीकाकरण किया जा रहा है। फिर उन्हें अवलोकन के लिए 30 मिनट के लिए रोक दिया जाता है।

साथ ही उन्हें मास्क के प्रयोग व अन्य सुरक्षा नियमों की जानकारी दी जा रही है और उनका पालन करने की अपील की जा रही है। बेलापुर संभाग में 19 अलग-अलग जगहों पर 103 बेघर लोगों की काउंसलिंग की गई है, जिनमें से 14 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है।

संगठन हर तबके में जगह तलाश रहे हैं जहां बेघर, बेघर लोग पाए जाते हैं, जैसे ऐसे लोगों को रेलवे स्टेशन, फ्लाईओवर के नीचे, धार्मिक स्थलों के बाहर, और अन्य वे सभी जगह जहाँ ऐसे लोग मिल सकते हैं, आयोजकों द्वारा टीकाकरण किया जा रहा है। इस अभियान के लिए एकत्रित जानकारी का उपयोग सामाजिक विकास विभाग द्वारा भविष्य में जनकल्याणकारी योजनाओं को लागू करने के लिए किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: बच्चों की सुरक्षा के लिए नवी मुंबई नगर पालिका द्वारा नि:शुल्क टीकाकरण कार्यक्रम

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें