Advertisement

धारावी के लौट रहे अच्छे दिन, केवल 3 मरीज आए सामने

दो दिन पहले जहां इस इलाके में मात्र एक कोरोना (Covid-19) का मरीज सामने आया था तो वहीं अब मात्र 3 मरीज और सामने आए हैं। जो कि काफी अच्छी बात है,

धारावी के लौट रहे अच्छे दिन, केवल 3 मरीज आए सामने
SHARES

एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी झोपड़ी वाला इलाके धारावी (asia largest slum area dharavi) के अब अच्छे दिन आ रहे हैं। वर्तमान में, जहां मुंबई के अन्य इलाके में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले चिंताजनक दर से बढ़ रहे हैं, तो वहीं धारावी (dharavi) मेंं आश्चर्यजनक रूप तेजी से गिरावट आ रही है। दो दिन पहले जहां इस इलाके में मात्र एक कोरोना (Covid-19) का मरीज सामने आया था तो वहीं अब मात्र 3 मरीज और सामने आए हैं। जो कि काफी अच्छी बात है, नहीं तो एक समय यहां एक दिन में काफी अधिक मरीज सामने आते थे।

बुधवार को धारावी में केवल तीन नए Covid-19 के पॉज़िटिव मामले सामने आए। बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) द्वारा यह भी बताया गया कि इस स्लम इलाके में मंगलवार को केवल एक केस कोरोना का आया था। बुधवार को जो 3 नए केस सामने आए उसके बाद इस इलाके में अब तक कोरोना (Covid-19) के कुल केस बढ़कर 2,338 हो गई है।

BMC के अधिकारियों के मुताबिक,धारावी में इस समय कोरोना के 329 सक्रिय केस (Covid -19 active case in dharavi) हैं। हालांकि कुछ दिन पहले से BMC ने इस बात का खुलासा करना बंद कर दिया है कि इस स्लम इलाके में अब तक कितनों की मौत हो चुकी है। धारावी में 1 अप्रैल को कोरोना वायरस का पहला मामला दर्ज किया गया था। जो मुंबई में पहला मामला दर्ज होनेे के 20 दिन बाद आया था।

इस घनी आबादी वाली झुग्गी में अब धीरे धीरे सुधार आ रहा है। पिछले कुछ दिनों में कोरोना के सीमित मामले दर्ज किए जा रहे जो कि एक अच्छा संकेत है। इस बस्ती में कोरोना महामारी धीरे-धीरे नियंत्रण में आ रही है।

आपको बता दें कि 2.5 लाख किलोमीटर क्षेत्र में फैली धारावी की आबादी 6.5 लाख से अधिक है।झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले घरों को एक-दूसरे से सटकर बनाया गया है। यहां एक घर मे 8 से 10 लोग रहते हैं, जनसंख्या इतनी सघन है कि सोशल डिस्टेंस का पालन करना काफी कठिन काम है।

संबंधित विषय
Advertisement