डॉक्टरों के सर्टिफिकेट पर होगा क्यूऔर कोड

इस क्यूआर कोड का इस्तेमाल कर डॉक्टर के बारे में पूरी जानकारी हासिल की जा सकती है

SHARE

डॉक्टरों के कई बार गलत प्रेक्टिस में शामिल होने के कारण और कई बार डॉक्टरों की सर्टीफिकेट नकली होने के कारण अब महाराष्ट्र मेडिकल काउंसिल (एमएमसी) के अधिकारियों ने अब फैसला किया है कि वे डॉक्टर की प्रामाणिकता पत्र के साथ उनके उपर  क्यूआर कोड भी होगा।

पहले, प्रमाणपत्र को हर 5 साल में नवीनीकृत किया जाता था और पंजीकृत चिकित्सक के निवास पर पहुंचाया जाता था। हालांकि, 30 प्रतिशत से अधिक डॉक्टरों ने दावा किया है कि उन्हें प्रमाण पत्र नहीं मिला है। इसलिए, अधिकारियों ने फैसला किया है कि प्रमाण पत्र डॉक्टर को ईमेल के माध्यम से उस पर मुद्रित क्यूआर कोड के साथ भेजा जाएगा।

जालसाजी पर अंकुश लगाने के उद्देश्य सेउपरोक्त कदम जल्द ही लागू करने के लिए तैयार हैं। क्यूआर कोड स्कैन होने के बाद, डॉक्टर के विवरणउनकी तस्वीर आदि को सत्यापित किया जा सकता है। 

यह भी पढ़े- बेस्ट की नई एसी मिनी बस

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें