Advertisement

मुंबई : निःशुल्क कोरोना सेंटर में एक लाख से अधिक लोगों का हुआ कोरोना टेस्ट

इन सेंटरों में अब तक एक लाख से अधिक लोग मुफ्त में कोरोना टेस्ट करा चुके हैं। अच्छी बात यह है कि, इनमें से केवल 2 प्रतिशत लोग ही कोरोना से संक्रमित पाए गए।

मुंबई : निःशुल्क कोरोना सेंटर में एक लाख से अधिक लोगों का हुआ कोरोना टेस्ट
SHARES

मुंबई में कोरोना (Covid19 in mumbai) की बढ़ती घटनाओं को रोकने के लिए BMC द्वारा कई उपाय किये जा रहे हैं। एक आंकड़ें के अनुसार, लोगों की सुरक्षा और कोरोना (Coronavirus) से बचाव के लिए बीएमसी (bmc) द्वारा शुरू किए गए नि:शुल्क कोरोना टेस्ट (Covid test) सेंटर में अब तक 1 लाख से अधिक लोगों का टेस्ट किया जा चुका है। BMC प्रशासन की तरफ से शहर और उपनगरों में 244 स्थानों पर नि: शुल्क कोरोना टेस्ट सेंटर शुरू किए गए जहां कोरोना का टेस्ट किया जाता है।

इन सेंटरों में अब तक एक लाख से अधिक लोग मुफ्त में कोरोना टेस्ट करा चुके हैं। अच्छी बात यह है कि, इनमें से केवल 2 प्रतिशत लोग ही कोरोना से संक्रमित पाए गए। और जिन मरीजों की रिपोर्ट संक्रमित आई, उनका तुरंत इलाज किया गया। कोरोना की आंकड़ें घटने के बाद एक बार फिर से बढ़ने लगे हैं। इस संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने के लिए, अन्य राज्यों से मुंबई आने वाले लोगों पर ध्यान केंद्रित किया गया है। इसके अलावा, 'मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी' (my family my responcebility) अभियान के तहत डोर-टू-डोर सर्वेक्षण किया जा रहा है।

मुंबई में पिछले 24 घंटे में कुल 1,092 कोरोना मरीज सामने आए हैं, जिसके बाद कोरोना रोगियों की कुल संख्या बढ़कर 2,74,572 हो गई। शनिवार को 1,053 मरीज ठीक होकर अपने घर गए। ठीक होने वाले मरीज़ों की कुल संख्या अब 2,51,509 तक पहुंच गई है। वर्तमान में मुंबई में 12 हजार 397 सक्रिय रोगियों का इलाज चल रहा है। मरिजों का रिकवरी रेट (recovery rate) 92 प्रतिशत तक पहुंच गया है जबकि दोहरीकरण की अवधि यानी डबलिंग रेट (doubling rate) 280 दिनों तक पहुंच गई है।

दो दिन पहले, मुंबई में मरीजों के दोहरीकरण की दर 310 दिन थी, लेकिन अब इसमें कमी आ गयी है। 14 से 20 नवंबर तक, मुंबई में कुल कोरोना विकास दर 0.25 प्रतिशत तक पहुंच गई है।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
Advertisement