Advertisement

सावधान! मुंबई में बढ़ रहे हैं डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के मरीज

शहर में 10 अक्टूबर से लेकर 17 अक्टूबर के बीच मलेरिया के 143, डेंगू के 57 और चिकनगुनिया के (chikungunya) चार मामले दर्ज किए गए हैं।

सावधान!  मुंबई में बढ़ रहे हैं डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के मरीज
SHARES

कोरोना महामारी (corona pandemic) के संक्रमण से मुंबई अभी पूरी तरह से बाहर निकल भी नहीं पाई है कि, अब मुंबई में डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया जैसी मानसून से संबंधित बीमारियों में वृद्धि देखी जा रही है। पिछले दो हफ्तों से एक बार फिर बारिश ( mumbai rain) की वापसी होने से मौसम में ठंडी बढ़ गई है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, शहर में 10 अक्टूबर से लेकर 17 अक्टूबर के बीच मलेरिया के 143, डेंगू के 57 और चिकनगुनिया के (chikungunya) चार मामले दर्ज किए गए हैं।

इनमें से कई मामले अकेले बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) द्वारा संचालित स्वास्थ्य केंद्रों में दर्ज किए गए थे।

एडीज एजिप्टी नामके मच्छर से फैलने वाली बीमारी चिकनगुनिया लगभग दो साल बाद वापस आई है।

शहर में अब तक अक्टूबर में चिकनगुनिया के 19 मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि सितंबर में सात मामले सामने आए हैं। बीएमसी अस्पतालों में अब तक अक्टूबर में डेंगू के 154 मरीजों का इलाज किया जा चुका है।

COVID-19 महामारी के कारण, मलेरिया (malareia) और डेंगू (dengue) के परीक्षण में गिरावट आई है। बीएमसी के कार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मंगला गोमारे ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि लॉकडाउन (lockdown) के कारण कई मरीज अस्पताल में अपनी जांच कराने नहीं पहुंच पाए।

तो वहीं एक निजी अस्पताल के एक डॉक्टर ने कहा कि निजी अस्पतालों में मानसून के दौरान डेंगू के मरीजों की संख्या अधिक रही है, लेकिन पिछले कुछ हफ्तों में इसमें गिरावट आई है। हालांकि, सर्दियों के दौरान मामले बढ़ सकते हैं।

बीएमसी (bmc) के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने कहा कि BMC ने इन संक्रामक रोगों के इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्रों और अस्पतालों में पर्याप्त व्यवस्था की है। 

जुलाई महीने में बढ़ने वाली बीमारियों को देखते हुए पिछले महीने, यह बताया गया था कि बीएमसी डेंगू, मलेरिया और अन्य बरसात के मौसम में पैदा होने वाली बीमारियों के खिलाफ उपाय कर रही है।

बुधवार, 20 अक्टूबर को आयोजित एक बैठक में, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (uddhav thackeray) ने नागरिक को सावधान रहने और मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों के प्रसार को रोकने के लिए कहा था।

पढ़ें : 'चाइनीज' खाते है, तो हो जाईये सावधान!

Read this story in English
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें