Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
54,05,068
Recovered:
48,74,582
Deaths:
82,486
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
34,288
1,240
Maharashtra
4,45,495
26,616

जुलाई-अगस्त महीने में कोरोना की तीसरी लहर आने की संभावना, मुख्यमंत्री ने विभागों को चेताया

टोपे ने कहा कि, कोरोना की तीसरी लहर जुलाई या अगस्त महीने में राज्य में आ सकती है। हमें इस लहर का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए।

जुलाई-अगस्त महीने में कोरोना की तीसरी लहर आने की संभावना, मुख्यमंत्री ने विभागों को चेताया
SHARES

कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर के बीच राज्य सरकार ने एक और चौकानें वाला खुलासा किया है। राज्य सरकार की तरफ से कुछ ही महीने में कोरोना की तीसरी लहर (third vabe of corona) आने की संभावना जताई गई है। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (health minister rajesh tope) ने इस बारे में जानकारी दी है।

टोपे ने कहा कि, कोरोना की तीसरी लहर जुलाई या अगस्त महीने में राज्य में आ सकती है। हमें इस लहर का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए। इस तरह के निर्देश खुद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (uddhav thackeray) ने संबंधित विभागों को दिए हैं।

राज्य में हर दिन कोरोना के 60,000 से लेकर 68,000 नए मरीज सामने आ रहे हैं। इतनी बड़ी संख्या में मरीजों के आने से स्वास्थ्य विभाग की सभी व्यवस्थाएं फेल हो गई हैं। अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन (oxygen) की कमी हो गई है।ऑक्सीजन की कमी से कई मरीजों की मौत भी हुई है। एक ओर जहां कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ रही है, तो वहीं दूसरी ओर टीकों की कमी होने की भी बात सामने आ रही है।

इस संबंध में, जिला कलेक्टर के साथ आयोजित समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने संबंधितों विभागों के अधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की।

राजेश टोपे ने कहा कि, मुख्यमंत्री की तरफ से यह चेताया गया है कि, विशेषज्ञों का अनुमान है कि राज्य में कोरोना की तीसरी लहर जुलाई या अगस्त महीने में आ सकती है। इस लहर के आने से पहले हमें आवश्यक कदम उठाने की जरूरत है। तीसरी लहर आने के दौरान इस बात का बहाना नहीं चलेगा कि, हमारे पास पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं है। ऑक्सीजन की प्रचुर आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए मुख्य रूप से योजना बनाई जानी चाहिए।  

टोपे ने आगे कहा, ऑक्सीजन की बढ़ती जरूरत को देखते हुए अब कदम उठाए जाने चाहिए।  हर तालुका में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किया जाना चाहिए। सभी जिला कलेक्टरों को भी निर्देश दिया गया है कि वे तीसरी लहर आने से पहले आवश्यक कदम उठाए।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें