सीने में फंसी धारदार पिन को निकालने में सफल हुए जैन हॉस्पिटल के डॉक्टर

चेंबूर स्थित जैन मल्टिस्पेशॅलिटी हॉस्पिटल में डॉक्टरों ने एक 18 साल की लड़की के लंग्स में 6 दनों तक फंसी रही 3.5 सेंटी मीटर की पिन को आधुनिक ब्रॉन्कोस्कोप की सहायता से बाहर निकाला गया है।

SHARE

चेंबूर स्थित जैन मल्टिस्पेशॅलिटी हॉस्पिटल में डॉक्टरों ने एक 18 साल की लड़की के लंग्स में 6 दनों तक फंसी रही 3.5 सेंटी मीटर की पिन को आधुनिक ब्रॉन्कोस्कोप की सहायता से बाहर निकाला गया है। इनाया शेख (बदला हुआ नाम) 27 नवंबर को जैन हॉस्पिटल में एडमिट हुई थी।


असफल रहा प्रयास

21 नवंबर को इनाया गोवा घूमने के लिए गई थी। तभी वहां पर स्कार्फ पहनते वक्त उसने पिन मुह में रख ली और वह पिन गलती से निगल गई। इनाया को लगे हाथ मेडिकल कॉलेज में एडमिट किया गया। पिन आखिर कहां फंसी है इसकी जानकारी पाने के लिए लड़की के सीने का एक्स-रे किया गया। साथ ही एण्डोस्कॉपी के द्वारा निकालने का प्रयास किया गया। लेकिन यह प्रयास असफल रहा।


सर्जरी की सलाह

इसके बाद इनाया तत्काल दूसरे हॉस्पिटल में एडमिट किया गया। लेकिन यहां भी असफलता ही हाथ लगी। इनाया के लंग में फंसी पिन को एण्डोस्कॉपी दवारा निकालने में तीन मेडिकल कॉलेज और 2 हॉस्पिटल को असफलता हाथ लगी। इसके बाद डॉक्टरों ने सर्जरी के द्वारा पिन निकाल निकालने की सलाह दी। इसके बाद इनाया के परिवार वालों ने चेंबुर के जैन हॉस्पिटल में सर्जरी कराने का निर्णय लिया।


धारदार पिन

जान मल्टिस्पेशॅलिटी हॉस्पिटल में डॉक्टरों द्वारा निकाले गए एक्स पे पचा चला कि यह जो पिन लंग्स में फंसी है, बहुत ही धारदार है। खासकर यह पिन पिछले 6 दिनों से लंग्स में फंसी थी। जिससे रक्त वाहिनियों को खतरा हो सकता था। जिसके चलते फोरसेप्स का उपयोग कर ब्रॉन्कोस्कोप द्वारा पिन को बाहर निकाला गया।

संबंधित विषय