ब्रेस्ट कैन्सर से बचाव

मुंबई। महिलाओं के स्वास्थ्य को लेकर सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि प्रत्येक दस महिलाओं में से एक महिला ब्रेस्ट कैंसर से पीड़ित है। इसमें ज्यादातर केसेस में मरीजों को इलाज के लिए केमोथेरिपी दी जाती है। जो कि बहुत ही तकलीफदेह होने के साथ-साथ साइड इफेक्ट करती है। लेकिन अब एक अच्छी खबर ये है कि 46 % ब्रेस्ट कैंसर के मामलों के शुरूआती स्टेज में डायग्नोसिस द्वारा केमोथेरिपी से बचा जा सकेगा। स्तन कैंसर होने का पता साधारणतः पहले या दूसरे चरण में ही चल जाता है। इसलिए इसका इलाज सही समय पर हो पाता है। लेकिन इसके लिए ज़रूरी है हर किसी को इस बारे में सही जानकरी हो और वे सचेत हो। स्तन कैंसर से बचने का सबसे पहला कदम है जागरूकता। उसके बाद आता है इस रोग से बचने के उपाय। जीवनशैली में बदलाव और सचेतता ही आपको कष्टदायक स्तन कैंसर से बचा सकता है।

Loading Comments