मेट्रो के कामों के लिए 159 पेड़ों को काटने के प्रस्ताव को बीएमसी ने दी मंजूरी

मेट्रो 2 और मेटो 7 के काम के लिए 159 पेड़ो को काटने और 107 पेड़ो को फिर से लगाने के प्रस्ताव को बीएमसी ने मंजूरी दे दी है

मेट्रो के कामों के लिए 159 पेड़ों को काटने के प्रस्ताव को बीएमसी ने दी मंजूरी
SHARES

मुंबई मेट्रो और अन्य शासकीय कामों के लिए आड़े आ रहे 159 पेड़ों को काटने की परमिशन और 107 झाड़ों को फिर से लगाने की परमिशन बीएमसी के ट्री अधिकरण समिति ने मंजूर कर लिया है। बताया जा रहा है कि बीएमसी ट्रि अधिकरण के इस परमिशन मिलने के बाद अब मेट्रो का काम और भी तेज गति तेज गति से चलेगा। जहां एक ओर बीएमसी ने पेड़ों को काटने की परमिशन दी है तो वहीं दूसरी ओर बीजेपी ने अब इसका विरोध शुरू कर दिया है बीजेपी ने कहा है कि पेड़ काटने का विरोध वह करती रहेगी।

बीजेपी ने किया विरोध

हालांकि बीजेपी के पेड़ काटने के विरोध के बीच शिवसेना के नेता और स्थाई समिति अध्यक्ष यशवंत जाधव ने कहा है कि मेट्रो स्टेशन के आस पास आने वाले रास्ते और नालों के काम के लिए पेड़ों को काटने की सहमति दी गई है।

शिवसेना ने किया था पेड़ काटने का विरोध

आपको बता दें कि फिलहाल मुंबई में मेट्रो का काम शुरू है देवेंद्र फडणवीस सरकार के समय मेट्रो कार्ड बनाने के लिए आरे में पेड़ों को काटा गया था जिसका स्थानीय लोग पर्यावरण प्रेमियों ने काफी विरोध किया था उस समय शिवसेना ने भी बीजेपी के इस फैसले का विरोध किया था शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने कहा था कि आरे में पेड़ काटना सही नहीं है हालांकि उस समय भी बीएमसी में शिवसेना और बीजेपी की सरकार थी बीएमसी ने बीएमसी के ट्री प्राधिकरण ने ही आरे में पेड़ काटने के प्रस्ताव को मंजूरी दी।

फिर बीएमसी पर उठे सवाल

हालांकि अब उसी तरह  मेट्रो 2 और मेटो 7 के काम के लिए   159 पेड़ो को काटने और 107 पेड़ो को फिर से लगाने के प्रस्ताव को बीएमसी के ट्री प्राधिकरण ने मंजूरी दे दी है। भाजपा ने वृक्ष प्राधिकरण समिति में पेड़ों को काटने के प्रस्ताव का स्वागत किया है। बीजेपी नगरसेवक अभिजीत सामंत ने कहा कि पेड़ों को काटने के प्रस्ताव को मंजूरी मिलने से मेट्रो को गति मिलेगी।

"मेट्रो का विरोध नही, पेड़ काटने का विरोध"

अभिजीत सामंत का कहना है कि "इसलिए आज, मेट्रो स्टेशन के साथ सड़कों और नालियों के काम के लिए पेड़ों को काटने का प्रस्ताव था,   हम मेट्रो  के विरोध में नहीं हैं  हमारा विरोध पेड़ों को काटने का है" । हालांकि  स्थाई समिति अध्यक्ष यशवंत जाधव ने कहा कि " हम पेडों को बचाना चाहते है इसलिए हमने पेड़ो की काटने  संख्या को कम किया है"।  उन्होंने मांग की कि नगर पालिका और मेट्रो एमएमआरसीएल को लगाए गए पेड़ों की देखभाल की जाए।

संबंधित विषय