आणिक-पांजारपोल के विस्थापितों का अनशन छठें दिन भी जारी

 Chembur
आणिक-पांजारपोल के विस्थापितों का अनशन छठें दिन भी जारी

मुंबई महानगर प्रदेश विकास प्राधिकरण के आणिक पांजारपोल लिंक रोड प्रकल्प के 2000 विस्थपित लोग सात वर्षों से भटक रहे हैं। 2000 विस्थापितों के त्वरित पुनर्वसन कराने की मांग के लिए विस्थापित एमएमआरडीए कार्यालय पर छह दिनो से आमरण अनशन पर बैठे हैं।  अनशनकर्ता मोतीराम खरात कहना है कि जब तक एमएमआरडीए पुनर्वसन का लिखित आश्वासन नहीं देता तब तक वे यहां से नहीं हटेंगे।

आणिक पांजरपोल लिंक रोड प्रकल्प के लिए हजारों झोपडपट्टी वासियों को विस्थापित किया गया था। इन विस्थापितों का एमएमआरडीए के द्वारा पुनर्वसन किया जाना था, जिसके कई विस्थापितों का पुनर्वसन एमएमआरडीए ने किया। लेकिन आज भी 2000 विस्थापित पुनर्वसन से वंचित हैं, यह आरोप आंदोलनकर्ता मोतीराम खरात ने लगाया है। उन्होंने कहा कि एमएमआरडीए हमारी बात नहीं सुन रही है इसलिए हमने उपोषण पर बैठने का निर्णय लिया है।

सोमवार को मुंबई भाजपा अध्यक्ष एड. आशिष शेलार और समाजवादी पार्टी के अबू आजमी ने विस्थापित अनशनकर्ताओं से मुलाकात की। उसके बाद शेलार के साथ विस्थापितों के शिष्टमंडल ने महानगर आयुक्त यूपीएस मदान के साथ भेट कर विस्थापितों की मांग आयुक्त के सामने उठाई। जिसके अनुसार मदान ने 2000 में से 900 विस्थापितों का पुनर्वसन जल्द करने फिर बाकी 1100 विस्थापितों के पुनर्वसन की प्रक्रिया 900 विस्थापितों का पुनर्वसन होने के बाद करने का आश्वासन दिया।

शेलार और शिष्टमंडल के साथ बैठक में लिखित आश्वासन मंगलवार को देने का आश्वासन एमएमआरडीए की तरफ से दिया गया है। खरात ने कहा कि मंगलवार को लिखित आश्वासन मिलने के बाद अनशन खत्म कर दिया जाएगा।

Loading Comments 

Related News from इन्फ्रा