दो मिल्स की जगहों पर म्हाडा बनाएगी घर

हिंदुस्तान मिल्स और ग्रेट इंडियन मिल्स की जमीन पर म्हाडा ने 300 घरों को बनाने का फैसला किया है।

SHARE

म्हाडा ने मुंबई के दो मिल्स की जगहों पर श्रमिको के लिए घरो के निर्माण के लिए एक अहम फैसला लिया है। हिंदुस्तान मिल्स और ग्रेट इंडियन मिल्स की जमीन पर म्हाडा ने 300 घरों को बनाने का फैसला किया है। श्रमिकों के लिए बनाए जानेवाले इन घरो का फैसला म्हाडा ने ठीक लोकसभा चुनाव के पहले लिया है।



म्हाडा के अधिकारियों का कहना है कि ग्रेट इंडियन मिल की जमीन पर  निर्माण कार्य करने के लिए एक निविदा पहले ही मंगाई जा चुकी है, जल्द ही दूसरी निविदा मंगाई जाएगी। लगभग 1.75 लाख मिल श्रमिकों को अभी भी मकान आवंटित किए जाने हैं। अब तक, म्हाडा द्वारा श्रमिकों को 12,000 घर आवंटित किए गए हैं। इसके साथ ही म्हाडा पुनर्विकास परियोजनाओं पर नज़र रखने के लिए बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के साथ 11 मिलो की स्थिति पर भी नजरे रखी हुई है।


महाराष्ट्र हाउसिंग एंड एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी ( म्हाडा) ने गोरेगांव के पहाड़ी इलाकों के साथ साथ 20 अन्य जगहों पर ढाई से तीन हजार घरों के निर्माण का प्रस्ताव दिया है। म्हाडा 2022 तक प्रधानमंत्री के सभी को अपना घर देने के उद्देश से लगभग 8 हजार घरों का निर्माण करवा सकती है। गोरेगांव के साथ साथ म्हाडा प्रतिक्षा नगर (सायन), मुलुंड, मालवणी, बोरिवली में भी प्रोजेक्ट तैयार करने जा रही है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें