जुलाई में मिल श्रमिकों के लिए घरो की लॉटरी प्रक्रिया शुरु कर सकती है म्हाडा

इन लॉटरी घरों में से 3,300 वडाला में बॉम्बे डाइंग मिल में और 485 लोअर परेल में श्रीनिवास मिल में स्थित हैं।

SHARE

महाराष्ट्र हाउसिंग एंड एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी  मिल श्रमिकों के लिए 3,835 घरों की लॉटरी प्रक्रिया जुलाई में शुरु कर सकती है। पंजीकरण की तारीखों को जल्द ही अंतिम रूप दिया जाएगा। इन लॉटरी घरों में से 3,300 वडाला में बॉम्बे डाइंग मिल में और 485 लोअर परेल में श्रीनिवास मिल में स्थित हैं।  श्रीनिवास मिल और बॉम्बे डाइंग मिल के कर्मचारियों को पहले घरों का आवंटन किया जाएगा और बाकियों को सामान्य मिल श्रमिकों को लॉटरी के माध्यम से वितरित किया जाएगा।


आंकड़ों के अनुसार, घरों को प्राप्त करने के लिए लगभग 1.75 लाख मिल श्रमिकों के नाम पंजीकृत हैंजबकि म्हाडा ने उनके लिए तीन लॉटरी आयोजित की हैं और केवल 12,000 मिल श्रमिकों को मकान आवंटित किए हैं। चूंकि मांग और आपूर्ति के बीच एक बड़ा अंतर है, म्हाडा ने बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) को सुझाव दिया था कि वह छोटी मिल की जमीनों के बदले में एक बड़ा जमीन आवंटित करे, जो उसके कब्जे में है। 

म्हाडा की मुंबई की छह मिलों में कुल 3,873.83 वर्ग मीटर जमीन है।  मातुल्य मिल, मफतलाल मिल नंबर 3, हिंदुस्तान मिल नंबर 1, 2, 3, वेस्टर्न इंडिया मिल और विक्टोरिया मिल। लेकिन इन जमीनों पर केवल 444 घरों का निर्माण किया जा सकता है।


यह भी पढ़े1 जून से बदल जाएंगी ये जरूरी चीजें, आप पर होगा सीधा असर

संबंधित विषय