पुनर्विकास पर बीडीडीवासियों में पड़ी फूट

    Mumbai
    पुनर्विकास पर बीडीडीवासियों में पड़ी फूट
    मुंबई  -  

    मुंबई – बीडीडी चाल के पुनर्विकास के लिए म्हाडा और बीडीडीवासियों के बीच विवाद बढ़ता जा रहा है। बीडीडीवासी म्हाडा का जोरदार विरोध कर रहे हैं। लेकिन अब बीडीडीवासियों के संगठन में फूट पड़ने की स्थिति नजर आने लगी है। जिसका कारण ना. म. जोशी मार्ग के बीडीडीवासियों और उनके संगठन का म्हाडा के विरोध पर समझौता कर लिया है, वहीं दूसरी तरफ नायगांव और वरली के बीडीडीवासियों और संगठनों का विरोध अभी भी जारी है।

    सोमवार को म्हाडा उपाध्यक्ष संभाजी झेंडे की उपस्थिति में ललित कला भवन में एक बैठक आयोजित की गई। इस बैठक के बाद ना. म. जोशी मार्ग के बीडीडी वासियों का विरोध खत्म हो गया वहीं नायगांव में बीडीडीवासियों का विरोध कायम है। पुनर्विकास के लिए हमारी सहमति की सरकार को जरूरत नहीं, यहां स्टॉलधारक क्या करेंगे। बीडीडी के झोपडपट्टीवासियों को कितने स्क्वायर फुट का घर दिया जाएगा। ऐसे अनेक प्रश्न नायगांव के साथ वरली बीडीडीवासियों ने म्हाडा से पूछा है। अखिल बीडीडी चाल भाडेकरु संघ के अध्यक्ष किरण माने ने कहा कि जबतक इन प्रश्नों के उत्तर नहीं मिल जाते तबतक हमारा विरोध कायम रहेगा। जबकि बीडीडी चाल उपक्रम सेवा समिति के सचिव कृष्णकांत नलगे ने कहा कि म्हाडा हमारा विकास कार्य कर रही है इसलिए उसके विरोध का कोई कारण नहीं है।
    म्हाडा का विरोध करने वाले संघटनों ने अब आंदोलन तीव्र करने का निर्णय लिया है। जिसके लिए 9 अप्रैल को लोकसेवा चौक में बीडीडीवासियों ने आंदोलन की घोषणा की है।

    Loading Comments

    संबंधित ख़बरें

    © 2018 MumbaiLive. All Rights Reserved.