मेट्रो 3 ने बदला ‘राजनीति’ का केंद्र

 Mumbai
मेट्रो 3 ने बदला ‘राजनीति’ का केंद्र

नरिमन पॉइंट में स्थित राजनीतिक पार्टियों के कार्यालय मेट्रो-3 परियोजना के लिए बाधक बने हुए थे, लेकिन अब यह बाधा दूर हो गयी है। सभी राजनीतिक दलों ने अपने-अपने कार्यालयों को स्थान्तरित करने में सहमती जताई है। मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (एमएमआरसी) के कार्यकारी संचालक (नियोजन) आर.रमण्णा ने जानकारी देते हुए बताया कि नरीमन पॉइंट में शिवसेना, एनसीपी,कांग्रेस सहित अन्य पार्टियों के कार्यालय स्थित हैं। अब इन कार्यालयों का कामकाज मुंबई पोर्ट ट्रस्ट के ठाकर सी हाउस से चलेगा। लेकिन शिवसेना ने ठाकरसी हाउस में जाने से मना कर दिया है। शिवसेना अपना कामकाज गृहनिर्माण राज्यमंत्री रविन्द्र वायकर के बंगले से करेगी। अब सभी को सरकार की मंजूरी का इंतजार है। कुछ दिन पहले एमएमआरसी ने सभी राजीनीतिक पार्टियों के कार्यलयों के बिजली के कनेक्शन काट दिए थे।

आर.रमण्णा ने कहा कि ठाकरसी हाउस 18 हजार स्क्वायर फीट का है, इसका इंटीरियर भी सज चूका है। उन्होंने बताया कि इन पार्टियों को 5 साल के लिए ठाकरसी हाउस में स्थान दिया जा रहा है, बाद में सरकार के आदेश के अनुसार पुनर्वसन किया जाएगा। मेट्रो-3 एक भूमिगत रेल सेवा है जो कि अँधेरी के सिप्ज से होते हुए बांद्रा से कुलाबा तक जायेगी। इस परियोजना में नरीमन पॉइंट का वह ईलाका भी शामिल है जहाँ सभी राजनितिक पार्टियों के कार्यालय स्थित है। एमएमआरसी ने कई बार नोटिस देकर इन कार्यालय को खाली करने को कहा लेकिन हर बार पार्टियों ने नोटिस की अनदेखी की। आख़िरकार एमएमआरसी ने 23 अप्रैल रात को सभी पार्टियों के बिजली कनेक्शन को काट दिया।

कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा कि जल्द ही कांग्रेस का सभी कामकाज ठाकरसी हाउस स्थान्तरित किया जायगा। एनसीपी के प्रवक्ता नवाब मालिक ने इस नीति को लेकर सरकार और एमएमआरसी के प्रति घोर नाराजगी जाहिर की है। मलिक ने नाराजगी जाहिर करते हुए सत्ता पक्ष पर आरोप लगाया कि सत्ता में होने पर यह लोग कुछ भी कर सकते हैं, इन्हें कोई रोकने वाला नहीं है।

Loading Comments