क्रोध का विकार कैंसर से भी घातक

मुंबई - सद्गुरु कहते हैं कि क्रोध आपके आंतरिक ऊर्जा के कूप्रबंधन से पैदा हुआ एक ऐसा शार्ट सर्किट है जो आपकी मान,प्रतिष्ठा,सुख और आनंद को जलाकर खत्म कर सकता है। इसलिए क्रोध से बचें क्योंकि ये विकार कैंसर से भी ज्यादा घातक है।

दूसरी बात- यदि घर में झगड़े बहुत होते हों, कर्ज परेशान करता हो, शरीर में थकान रहती हो या कुंडली मंगल में दोष हो तो ऐसी स्थिति में लाल मिर्च का सेवन बंद कर दें और 43 दिन तक थोड़ा सा गुड सिर से सात बार घुमाकर किसी पेड़ के नीचे रखें जो कीड़ों-मकोड़ों का आहार बन सके। इससे आपको बहुत शांति मिलेगी, बहुत लाभ होगा।

Loading Comments